Connect with us

देश

Sisodia Vs CBI: सीबीआई पर दबाव डालने का आरोप लगाकर नई मुश्किल में मनीष सिसोदिया, जांच एजेंसी बोली- पड़ताल के बाद करेंगे कार्रवाई

मनीष सिसोदिया ने कहा कि बीजेपी कहती है कि आबकारी घोटाला 10000 करोड़ का है। मैं सीबीआई दफ्तर आया। यहां पाया कि कोई घोटाला नहीं है। मामला फर्जी है। दिल्ली में ऑपरेशन लोटस को कामयाब करने के लिए मेरे खिलाफ फर्जी केस बनाया गया। उन्होंने कहा कि मुझ पर ‘आप’ छोड़ने का दबाव डाला गया। कहा गया कि सीएम बन जाओ।

Published

cbi and manish sisodia

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार के कथित आबकारी घोटाले में घिरे डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया नई मुश्किल में फंसते दिख रहे हैं। इसकी वजह उनका बयान है। मनीष सिसोदिया से जांच एजेंसी सीबीआई ने सोमवार को 9 घंटे तक पूछताछ की थी। पूछताछ खत्म होने के बाद मनीष सिसोदिया बाहर आए और सीबीआई पर बड़ा आरोप लगा दिया। मनीष ने दावा किया कि पूछताछ के दौरान उन पर आम आदमी पार्टी AAP छोड़ने का दबाव बनाया गया। ये भी लालच दिया गया कि दिल्ली का सीएम बना दिया जाएगा। सीबीआई ने इन आरोपों का खंडन करते हुए जांच के बाद उचित कार्रवाई की बात कही है।

manish sisodia

मनीष सिसोदिया ने कहा कि बीजेपी कहती है कि आबकारी घोटाला 10000 करोड़ का है। मैं सीबीआई दफ्तर आया। यहां पाया कि कोई घोटाला नहीं है। मामला फर्जी है। दिल्ली में ऑपरेशन लोटस को कामयाब करने के लिए मेरे खिलाफ फर्जी केस बनाया गया। उन्होंने कहा कि मुझ पर ‘आप’ छोड़ने का दबाव डाला गया। मुझसे कहा गया कि सीएम पद लो या जेल की सजा काटने की तैयारी करो। सिसोदिया ने ये आरोप भी लगाया कि पूछताछ के दौरान ये भी कहा गया कि सत्येंद्र जैन के खिलाफ भी फर्जी केस है, फिर भी वो जेल में हैं। सुनिए सिसोदिया का बयान।

मनीष सिसोदिया के इस बयान के तुरंत बाद सीबीआई ने बयान जारी किया। सीबीआई ने कहा कि उनके बयान के बारे में जांच होगी। उनके आरोपों की पुष्टि की जाएगी। जिसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। जांच एजेंसी ने कहा कि सिसोदिया से एफआईआर में लगे आरोपों और अब तक के सबूतों के बारे में सवाल पूछे गए। सीबीआई ने कहा कि वो ऐसे आरोपों का कड़ा खंडन करती है। कानून के मुताबिक जांच जारी रहेगी।

बता दें कि दिल्ली के आबकारी घोटाले में सीबीआई ने मनीष सिसोदिया समेत 15 लोगों को नामजद आरोपी बनाया है। इसके अलावा अज्ञात लोगों पर भी एफआईआर है। सीबीआई इससे पहले मनीष सिसोदिया के घर पर छापा भी मार चुकी है। उनके बैंक लॉकरों को भी खंगाला गया था। सिसोदिया लगातार दावा करते हैं कि सीबीआई को कोई सबूत नहीं मिला, लेकिन जांच एजेंसी ने उनके इस दावे पर कहा था कि उसने किसी को क्लीनचिट नहीं दी है। जांच जारी है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement