सीसीटीवी से हुआ खुलासा, ऐसे पुलिस को चकमा देकर ऑटो में बैठ गायब हो गया विकास दुबे

फरीदाबाद में विकास दुबे पुलिस के हाथ आते-आते बच गया। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि कैसे पुलिस के आने से पहले वह एक ऑटो में सवार होकर भाग गया।

Avatar Written by: July 8, 2020 2:42 pm

नई दिल्ली। फरीदाबाद में विकास दुबे पुलिस के हाथ आते-आते बच गया। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि कैसे पुलिस के आने से पहले वह एक ऑटो में सवार होकर भाग गया। मिठाई की एक दुकान के सामने खड़ा विकास करीब पांच मिनट तक वहां इंतजार करता रहा। उसने देख लिया था कि मिठाई की दुकान पर कैमरा लगा है इसलिए वहां से हट गया मगर तबतक उसकी तस्‍वीरें कैद हो चुकी थीं।

Vikash Dubey Faridabad

पहले दो ऑटो ने उसे नहीं बिठाया। तीसरे ऑटो में वह बैठा और चला गया। उसने काले रंग की शर्ट, जींस और मास्क पहना हुआ था। उसके कंधे पर एक बैग भी देखा गया है। माना जा रहा है कि वह अपना सामान लिए इधर-उधर छिपता फिर रहा है।

जिस इलाके में विकास को देखा गया, वहां के एक शख्‍स ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि पुलिस ने विकास को देखा था मगर पहचान नहीं सकी। विकास दुबे असल में बदखल चौक इलाके में स्थित एक छोटे होटल में रुका था। होटल के कर्मचारियों के अनुसार, विकास ने अपनी पहचान अंकुर के रूप में कराई थी। पुलिस टीम के होटल पहुंचने से पहले ही विकास वहां से फरार हो गया।

Vikash Dubey Faridabad

उसके कुछ सहयोगी वहां से पकड़े गए हैं। दिल्‍ली-एनसीआर में कई जगहों पर उसकी तलाश की जा रही है। वेस्‍टर्न यूपी के कई जिलों में भी विकास और उसके गुर्गों का पता लगाया जा रहा है।

ADG प्रशांत कुमार बोले व्यर्थ नहीं जाएगी शहादत, ऐसी कार्रवाई होगी जो नजीर बनेगा

उत्तर प्रदेश के एडीजी प्रशांत कुमार ने बुधवार को अब तक हुई कार्रवाई के बारे में मीडिया को बताया। उन्होंने कहा कि जल्द ही विकास दुबे पकड़ में आ जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस इस मामले में ऐसी कार्रवाई करेगी जो पूरे देश के लिए नजीर बनेगा। पुलिसवालों की शहादत बेकार नहीं जाने देंगे।

ADG Prashant Kumar UP

ADG प्रशांत कुमार ने बताया कि चौबेपुर के सभी पुलिसवालों को हटा दिया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि गौतमबुद्ध नगर में एक्सप्रेसवे थाने में एक एनकाउंटर और बुलंदशहर के सियाना में भी इनामी बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। कानपुर की घटना में शामिल हर एक आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। शहादत बेकार नहीं जाने देंगे।