Connect with us

देश

Gehlot On Rape: रेप पर यह क्या बोल गए CM गहलोत, निर्भया का भी भूले नाम, भड़की BJP

Gehlot On Rape: सीएम गहलोत के बयान पर भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने हमला बोला है। शहजाद पूनावाला ने कहा कि, रेप के कानून जिम्मेदार है, बलात्कारी नहीं। मतलब रेपिस्ट बचाओं आंदोलन जो राजस्थान में चल रहा है वो अब उसके चरम पर है। पहली मर्तबा नहीं है, इससे पहले गहलोत ने कहा था कि रेप के अधिकांश मामले फेक होते है। उनके मंत्री ने कहा था कि मर्दों का प्रदेश इसलिए बलात्कार होते रहते हैं।

Published

on

Ashok Gehlot

नई दिल्ली। राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत अपने एक बयान के चलते विवादों में घिर गए है। सीएम गहलोत ने रेप के मुद्दे को लेकर बेतुकी टिप्पणी की है। जिसके बाद अब वो विपक्ष के निशाने पर आ गए है। दरअसल, अशोक गहलोत ने रेप के बाद हत्या के मामले बढ़ने की वजह फांसी की सजा को बताया है। इतना ही नहीं अशोक गहलोत दिल्ली के निर्भया कांड तक को भूल गए। शनिवार को मीडिया से बात करते हुए गहलोत ने कहा कि, निर्भया केस के बाद जो किया है कि आपको फांसी की सजा मिलेगी। इसके बाद से रेप के बाद हत्या ज्यादा होने लगी। गहलोत ने ये भी कहा कि, आरोपी गवाही से बचने के लिए रेप के बाद बच्चियों की हत्या भी कर देते है। पूरे देश में जो रिपोर्ट आ रही है वो मैं देख रहा हूं। वो खतरनाक  ट्रेंड है। वहीं अब रेप पर दिए गए बयान को लेकर हर तरफ किरकिरी हो रही है। भाजपा ने भी सीएम अशोक गहलोत की जमकर क्लास लगाई है।

भाजपा का सीएम गहलोत पर हमला-

सीएम गहलोत के बयान पर भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने हमला बोला है। शहजाद पूनावाला ने कहा कि, रेप के कानून जिम्मेदार है, बलात्कारी नहीं। मतलब रेपिस्ट बचाओं आंदोलन जो राजस्थान में चल रहा है वो अब उसके चरम पर है। पहली मर्तबा नहीं है, इससे पहले गहलोत ने कहा था कि रेप के अधिकांश मामले फेक होते है। उनके मंत्री ने कहा था कि मर्दों का प्रदेश इसलिए बलात्कार होते रहते हैं। राजस्थान रेप और महिला उत्पीड़न के मामले नंबर वन हो चुका है। उन्होंने प्रियंका गांधी वाड्रा पर भी निशाना साधा। भाजपा नेता ने कहा कि, प्रियंका गांधी कहती है कि लड़की हूं, लड़ सकती हूं, लेकिन वो हमेशा चुप रहती है।

भाजपा सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने भी अशोक गहलोत के बयान पर वार करते हुए कहा कि, ”सीएम अशोक गहलोत का एक गैर-ज़िम्मेदार बयान आया। जिसमें उन्होंने कहा कि राजस्थान में हत्याएं इसलिए बढ़ रहे हैं क्योंकि बलात्कार के लिए फांसी की सजा है। ये महिलाओं के प्रति उनकी अपमान वाली मानसिकता को दिखाता है।”

आपको बता दें कि राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार कानून व्यवस्था को विपक्ष के निशाने पर रहती है। इतना ही नहीं राष्‍ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्‍यूरो (NCRB) की रिपोर्ट के अनुसार, राजस्थान साल 2020 में रेप के मामलों में देशभर में पहले नंबर पर रहा था। बता दें कि राजस्थान में साल 2023 में विधानसभा के चुनाव होने है। ऐसे में उनका ये बयान कांग्रेस पार्टी के लिए मुसीबत का सबब ना बन जाए।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement