Connect with us

देश

सीएम योगी ने खेल के लिए प्रयागराज को दी 100 करोड़ की सौगात

प्रयागराज : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रयागराज को अब तक हम संगमनगरी के रूप में जानते हैं, लेकिन यहां पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय, अन्य संस्थाओं के साथ सबसे बड़ा उच्च न्यायालय इसकी शान है। वहीं अमिताभ बच्चन स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के स्वर्ण जयंती वर्ष में प्रयागराज की अलग पहचान बन रही है। प्रयागराज में कई सनातन परंपराओं का समावेश है।

Published

on

*सीएम योगी ने खेल के लिए प्रयागराज को दी 100 करोड़ की सौगात*

*अमिताभ बच्चन स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के स्वर्ण जयंती वर्ष पर खेल महोत्सव समारोह में पहुंचे मुख्यमंत्री*

*बोले सीएम, प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में देश खेल के क्षेत्र में प्राप्त कर रहा नई ऊंचाइयां*

*समारोह में खिलाड़ियों को सम्मानित भी किया गया*

*देश-विदेश में नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को सम्मानित करती रहेगी सरकार-सीएम*

प्रयागराज/लखनऊ, 7 अक्टूबर।* वैश्विक मंच पर किसी देश के सामर्थ्य की अगर तुलना की जाती है तो खेल उसमें से एक है। ओलंपिक से लेकर सभी खेलों में विभिन्न देशों के खिलाड़ियाें द्वारा किए गए प्रदर्शन से उस देश के सामर्थ्य का अंदाजा लग जाता है। हम सब सौभाग्यशाली हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में भारत हर क्षेत्र में नित नई ऊंचाइयों को प्राप्त कर रहा है उसमें खेल का ये क्षेत्र भी शामिल है, जो उपेक्षित पड़ा हुआ था। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज में अमिताभ बच्चन स्पोर्ट्स काॅम्प्लेक्स के स्वर्ण जयंती वर्ष पर हुए खेल महोत्सव समारोह में कही। इससे पहले उन्होंने खिलाड़ियों को अंगवस्त्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया और प्रयागराज में खेलों को बढ़ावा देने के लिए 100 करोड़ देने का एलान किया।

*मेरठ स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी में हर सुविधा वर्ल्ड क्लास स्टैंडर्ड की होगी*
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रयागराज को अब तक हम संगमनगरी के रूप में जानते हैं, लेकिन यहां पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय, अन्य संस्थाओं के साथ सबसे बड़ा उच्च न्यायालय इसकी शान है। वहीं अमिताभ बच्चन स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के स्वर्ण जयंती वर्ष में प्रयागराज की अलग पहचान बन रही है। प्रयागराज में कई सनातन परंपराओं का समावेश है। दुनिया का पहला महर्षि भारद्वाज का गुरुकुल यहीं पर था। उन्होंने कहा कि खेलों के लिए सरकार ब्लॉक स्तर पर मिनी स्टेडियम, ओपन जिम की स्थापना करवा रही है।

इसके साथ ही निजी खेल अकादमी चलाने वालों को भी राज्य सरकार प्रोत्साहित करेगी। आज पैसे की कमी नहीं बल्कि पैसों का सही समायोजन होना जरूरी है। हम जो भी बनाएं वो मानक के अनुरूप बनाएं, वह वर्ल्ड क्लास स्टैंडर्ड का होना चाहिए। मेरठ में प्रदेश की पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी बन रही हैं जहां हर सुविधा वर्ल्ड क्लास होगी।

*सीएम ने दिया 100 करोड़ का तोहफा*
मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक राज्य सरकार यहां के खेलों में सहयोग करती रही थी, वहीं प्रयागराज में स्पोर्ट्स की गतिविधियों को आगे बढ़ाते हुए 100 करोड़ खर्च किए जाएंगे। इसमें से 60 करोड़ रुपये इस स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के लिए खर्च किए जाएंगे। वहीं सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के लिए 10 करोड़ 16 लाख, इलाहाबाद विवि के लिए 10 करोड़ 86 लाख, चंद्रशेखर आजाद पार्क में खेल सुविधाओं के विकास के लिए 7 करोड़ 73 लाख, ओपन जिम और मल्टी एक्टिविटी के लिए 4 करोड़ 25 लाख और सात स्थानों पर बच्चों के खेलकूद के साथ मनोरंजन के लिए 2 करोड़ 80 लाख रुपये और नौकायन के लिए 2 करोड़ स्वीकृत किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं में मेरिट लिस्ट में प्रयागराज की प्रतिभा का नाम आता है तो गर्व की अनुभूति होती है।

*खेल टीम वर्क सिखाता है*
सीएम योगी ने सभी को आश्वस्त किया कि देश के लिए मेडल प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों का जैसे हमने प्रदेश में बुलाकर सम्मान किया वो आगे भी जारी रहेगा। कॉमनवेल्थ गेम्स में प्रतिभाग करने वाले प्रदेश के खिलाड़ियों को भव्य कार्यक्रम में सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गुजरात में हो रहे राष्ट्रीय खेलों के लिए प्रदेश के खिलाड़ियों के रेलवे यात्रा में थर्ड एसी के सफर की व्यवस्था दी है। वहीं प्रदेश में खेल को बढ़ावा देने के लिए हर गांव में खेल का मैदान बनाया जा रहा है। वहीं छात्रावास में बच्चों की डाइट को भी बढ़ाया गया है। सीएम ने कहा कि आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप एकलव्य की तरह एक लक्ष्य के रूप में खेलें क्योंकि टीम वर्क से ही सफलता मिलती है। खेल ही टीम वर्क को सिखाता है। कार्यक्रम में डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक के अलावा कई मंत्री गण और खेल विभाग से जुड़े प्रशासनिक अफसर मौजूद थे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement