कोरोना का कहरः पंजाब ने 1 मई तक बढ़ाया कर्फ्यू और लॉकडाउन

पंजाब में कर्फ्यू या लॉकडाउन की अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है। ऐसे में लोगों को अब 20 दिन और घरों में ही रहना होगा। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंत्रिमंडल की बैठक में सर्वसम्मित से यह फैसला लिया।

Written by: April 10, 2020 5:30 pm

नई दिल्ली। पंजाब में कर्फ्यू या लॉकडाउन की अवधि 1 मई तक बढ़ा दी गई है। ऐसे में लोगों को अब 20 दिन और घरों में ही रहना होगा। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंत्रिमंडल की बैठक में सर्वसम्मित से यह फैसला लिया। साथ ही इसका सख्ती से पालन कराने के निर्देश भी जारी किए।

amrinder-singh

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में लॉकडाउन अभी जारी रहेगा, क्योंकि अगर इसे खोल दिया गया तो संक्रमण ज्यादा फैलेगा और इससे संकट बढ़ सकता है। लेकिन प्रदेश में कर्फ्यू लगने से एक अच्छी बात भी हुई। सूबे में नशा तस्करी की चेन टूट गई। इससे हम खुश हैं और इस दिशा में आगे काम किया जाएगा। इसके लिए एक टास्क फोर्स लगा दी गई है, जो रणनीति बना रही है।


पंजाब में अब तक कुल 141 कोरोना संक्रमित मरीज हैं। नवांशहर में 19, मोहाली में 48, अमृतसर में 11, होशियारपुर में 7, पठानकोट में 7, जालंधर में 11, लुधियाना में 10, मानसा में 11, रोपड़ में 3, मोगा में 4, फतेहगढ़ साहिब में 2, फरीदकोट में 2, बरनाला में 2, संगरूर, मुक्तसर, पटियाला, और कपूरथला में 1-1 मरीज है। अब तक 12 की मौत हो चुकी है। मोहाली में दो, अमृतसर में दो, जालंधर में एक, रोपड़ में एक, लुधियाना में दो, पठानकोट में एक, नवांशहर में एक, बरनाला में एक और होशियारपुर में एक मरीज की जान जा चुकी है।

इससे पहले मीडिया से बात करते हुए अमरिंदर सिंह ने ये कहा था

शुक्रवार को सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि हम सिर्फ किसानों को लॉकडाउन में छूट देंगे, क्योंकि इस बार अच्छी फसल हुई है। कोरोना के कारण आंकड़े भयावह हैं। चीजें अच्छी नहीं हैं और लोगों को सुरक्षित रखना हमारा कर्तव्य है। हम दोपहर में कैबिनेट में फैसला करेंगे कि लॉकडाउन के संबंध में हम क्या करने जा रहे हैं। अभी लॉकडाउन हटाना सही नहीं होगा।


कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि आज तक हमारे पास 651 लोग हैं जो निज़ामुद्दीन, दिल्ली से पंजाब आए थे। हमने उनमें से 636 का पता लगाया है। 15 लोगों की तलाश अभी भी जारी है। आज तक पंजाब में # COVID19 मामलों की 132 पुष्टि हुई है, जिनमें से 11 लोगों की मौत हो चुकी है। हमारे द्वारा अब तक एकत्र किए गए नमूनों की कुल संख्या 2877 है, एक राज्य के लिए यह बहुत अधिक नहीं है।


पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों और चिकित्सकों द्वारा जो आंकड़े मुझे दिए गए हैं कि उसके अनुसार 85-87% पंजाब के लोग संक्रमित हो सकते हैं, यदि ये आंकड़े सही हैं तो वे भयावह आंकड़े हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमारे पास पूरी दुनिया के बहुत वरिष्ठ और शीर्ष श्रेणी के चिकित्सा अधिकारियों की रिसर्च रिपोर्ट है साथ ही इस रिपोर्ट को सही तरीके से जांचकर हमारे वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों ने कहा है कि (# COVID19) मध्य सितंबर में भारत में चरम पर होगा, जब यहां की 58% जनसंख्या संक्रमित हो सकती है।


अमरिंदर सिंह ने कहा कि वर्तमान में केवल 1 रोगी वेंटिलेटर पर है, 2 पूर्व-वेंटिलेटर चरण पर है जहां उन्हें केवल ऑक्सीजन की आवश्यकता है। हमारे पास सरकारी अस्पतालों में 76 वेंटिलेटर और निजी अस्पतालों में 358 वेंटिलेटर है। यानि हमारे पास कुल वेंटिलेटर की संख्या 434 है।


सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि दुनिया भर से 95,000 लोग अमृतसर और अन्य स्थानों पर वापस आए हैं। उन्हें नियंत्रित रखना हमारा मुख्य ऑपरेशन बन गया है। वह नियंत्रण में हैं।

अमरिंदर सिंह के कम्यूनिटी ट्रांसमिशन वाले और सितंबर तक भारत के 58 % लोगों के संक्रमित होने के दावे का किया खंडन