Gyanvapi Mosque Case: शिवलिंग को लेकर सोशल मीडिया पर दाबीर अंसारी ने उड़ाया मजाक, हुआ अब बड़ा एक्शन

Gyanvapi Mosque Case: वीरेंद्र सिंह राजपूत द्वारा दी गयी शिकायत में लिखा कि “बारां जिले का छबड़ा कस्बा अभी 11 अप्रैल 2021 में हुए दंगों के नुकसान से उभर नहीं पाया है और अब दाबीर अंसारी अपने फेसबुक अकाउंट से हिन्दू समाज के आराध्य शिवलिंग के बारे में अपमानजनक टिप्पणी कर रहा है।

Avatar Written by: May 19, 2022 3:48 pm
shivling gyanvapi masjid

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में दशकों बाद कोर्ट के सख्त आदेश की अनुपालना में कड़ी सुरक्षा के बीच करवाए गए ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे से हुए खुलासे में मस्जिद के अंदर वजू करने वाले स्थान पर बाबा भोलेनाथ का शिवलिंग पाया गया,जिसके बाद बाबा भोलेनाथ के भक्तो में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी। कोर्ट ने भी पाए गए शिवलिंग के स्थान को सील कर उसे सुरक्षित करने के आदेश प्रशासन को दिए है। लेकिन दूसरे पक्ष के लोग सर्वे में पाए गए शिवलिंग को नकार कर, उसे फवारा बता रहा है, जो पहले से वजू खाने में मौजूद है। इन्हीं सब के बीच, सर्वे में शिवलिंग मिलने पर देश में मौजूद बाबा भोले के भक्त ख़ुशी से झूम रहे है वहीं दूसरी तरफ जो शिवलिंग को फवारा बता रहे है, वो लोग मानसिक दिवालिये में उलूल जुलूल बातें बना कर हिन्दू धर्म के आराध्य भगवान शिव का मजाक भी उड़ा रहे है। सोशल मीडिया पर तरह-तरह के पोस्ट डालकर शिवलिंग पर भद्दी टिप्पणी कर रहे है। राजस्थान के बारां जिले में दाबीर अंसारी ने भी अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट के जरिये शिवलिंग का मजाक उड़ाया जिस पर उसके खिलाफ अब धार्मिक भावनाएं भड़काने वाली धाराओं में मुकदमा दर्ज हो गया है।

Varanasi Gyanvapi Case..

दरअसल बारां जिले के रहने वाले दाबीर अंसारी ने अपने फेसबुक अकाउंट से एक तस्वीर पोस्ट करते हुए तस्वीर के नीचे कैप्शन में लिखा ” रोड पर मिला शिवलिंग का भंडार अंड भक्तों ने किया कोट जाने का फैसला।” इस पोस्ट के वायरल होने के बाद बारां जिले के ही वीरेंद्र सिंह राजपूत ने दाबीर अंसारी के शिवलिंग का मजाक उड़ाने पर पुलिस थाने में शिकायत दी, जिस पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने आईपीसी की धारा 505(2),295-A,153-A में मुकदमा दर्ज़ कर अनुसंधान शुरू कर दिया है।
वीरेंद्र सिंह राजपूत द्वारा दी गयी शिकायत में लिखा कि “बारां जिले का छबड़ा कस्बा अभी 11 अप्रैल 2021 में हुए दंगों के नुकसान से उभर नहीं पाया है और अब दाबीर अंसारी अपने फेसबुक अकाउंट से हिन्दू समाज के आराध्य शिवलिंग के बारे में अपमानजनक टिप्पणी कर रहा है। यह  फेसबुक पोस्ट हिंदू समाज की धार्मिक भावनाएं आहत कर पुन: दंगा भडकाने के उद्देश्य से की गयी है जिससे हिन्दू समाज की धार्मिक भावनाएं आहत हुई है। अत: दाबीर अंसारी पर  धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने व दंगा भड़काने के लिए कठोरतम धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जाये।”
शिकायतकर्ता वीरेंद्र सिंह ने बताया कि “अंसारी के फेसबुक पोस्ट से हिन्दू धर्म कि भावनाएं आहात हुई है इसलिए पुलिस में मामला दर्ज करवाया। पुलिस को ओपी युवक को तुरंत गिरफ्तार कर सख्त कारवाही करनी चाहिए ताकि समाज में धार्मिक उन्माद फ़ैलाने वालो में खौफ व्याप्त हो जाये और किसी भी तरह के धार्मिक अपमानजक पोस्ट कर माहौल न ख़राब किया जा सके। हालांकि पुलिस ने मामल तो दर्ज कर लिया लेकिन दाबीर अंसारी की राजनीतिक रसूख की वजह से उसको अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है। इस मामले में आरोपी दाबीर अंसारी से भी बात करनी चाही लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

मामले में सम्बंधित थाने के धनाधिकारी मांगीलाल यादव ने बताया कि “दाबीर अंसारी के विरुद्ध किसी सोशल मीडिया पोस्ट के जरिये हिन्दू धर्म की भावनाएं आहात करने के सन्दर्भ में शिकायत प्राप्त हुई जिस पर तुरंत कारवाही करते हुए धार्मिक भावनाएं भड़काने के लिए दाबीर के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया है। अभी मामले में तफ्तीश जारी है इसलिए अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो पायी।”

Latest