मौत की वजह कोरोना या कुछ और? यूपी सरकार कराएगी डेथ ऑडिट, सामने आएगी सच्चाई

इसके साथ ही सरकार ने यूपी के हर जिले से सैंपल मंगाना शुरू कर दिया है। हर जिले में 20 सैंपल रोज मंगाए जा रहे हैं। हॉटस्पॉट में यह संख्या 150 से 200 सैंपल की है। यूपी में अभी तक करीब 25 सौ सैंपल की जांच की जा चुकी है।

Written by: April 16, 2020 11:08 am

नई दिल्ली। कोरोना के सिलसिले में यूपी सरकारी बड़ा कदम उठाने जा रही है। उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण से मरने वालों का डेथ ऑडिट होगा। इस डेथ ऑडिट के लिए अलग से टीम बनाई जाएगी। इस टीम को  मृतकों के इलाज से जुड़ी केस फाइल दी जाएगी। इस केस फाइल को देखकर ये टीम मौत का कारण तय करेगी। अभी तक के तथ्यों के अनुसार अधिकतर मृतक पहले से ही किसी न किसी अन्य बीमारी से ग्रस्त थे।

CM Yogi Adityanath

यूपी सरकार कोरोना से होने वाली मौतों की तह में पहुंचना चाह रही है। अभी तक जो जानकारी सामने आ रही है, उसके मुताबिक कोरोना से मरने वालों में बुजुर्गों की संख्या काफी है जिन्हें पहले से बीमारियां थी। ऐसे में सच्चाई का पता लगाना जरूरी हो जाता है। इससे कोरोना के संकट की असली तस्वीर भी सामने आएगी।

coronavirus

इसके साथ ही सरकार ने यूपी के हर जिले से सैंपल मंगाना शुरू कर दिया है। हर जिले में 20 सैंपल रोज मंगाए जा रहे हैं। हॉटस्पॉट में यह संख्या 150 से 200 सैंपल की है। यूपी में अभी तक करीब 25 सौ सैंपल की जांच की जा चुकी है।

Coronavirus

यह भी एक तथ्य है कि भारत में कोरोना संक्रमित लोगों और कोरोना से मरने वालों की संख्या में बहुत अंतर है। भारत में दूसरे मुल्कों की तुलना में कोरोना मृत्यु की दर बेहद कम है। ऐसे में यूपी सरकार की यह पहल कोरोना से हो रही मौतों के सच से पर्दा उठा सकती है।