पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर बवाल, किसानों ने फेंकी बैरिकेडिंग, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

Kisaan Aandolan: दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के तमाम बॉर्डर सील कर दिए हैं और वहां बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। वहीं हरियाणा ने भी पंजाब से लगती सीमा को सील कर दिया है।

Avatar Written by: November 26, 2020 8:45 am
Farmer Protest

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों (New Farm law) के खिलाफ किसानों का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसके तहत गुरुवार को किसान राजधानी दिल्ली में विशाल विरोध प्रदर्शन करने वाले हैं। उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के किसान संगठनों ने ‘दिल्ली चलो’ मार्च बुलाया है। बता दें कि सभी किसान हाल ही केंद्र सरकार द्वारा पास किये गए तीन नये कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। किसान आंदोलन (Farmers movement) को देखते हुए दिल्ली प्रशासन अलर्ट पर है और राजधानी की शांति व्यवस्था भंग न हो इसके लिए कई इंतजाम किए हैं। दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के तमाम बॉर्डर सील कर दिए हैं और वहां बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। वहीं हरियाणा ने भी पंजाब से लगती सीमा को सील कर दिया है।

Delhi-Chalo protests

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोशन (DMRC) ने भी हरियाणा और उत्तर प्रदेश को जोड़ने वाली अपनी ट्रेन सेवाओं को दोपहर दो बजे तक के लिए स्थागित कर दिया है। हालांकि एयरपोर्ट और रैपिड मेट्रो सेक्शन पर सेवाओं में कोई बदलाव नहीं होगा। साथ ही दिल्ली मेट्रो की सेवाएं दोपहर 2 बजे के बाद सभी लाइनों पर फिर से शुरू हो जाएंगी।

अपडेट-

गुरुग्राम में प्रदर्शन कर रहे योगेंद्र यादव और अन्य किसानों को हिरासत में लिया गया है। बिलासपुर थानाक्षेत्र में ट्रैक्टर पर सवार होकर योगेंद्र यादव दिल्ली की ओर जाने की तैयारी में थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के दिल्ली चलो आंदोलन को देखते हुए करनाल में बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किया गया है।

किसानों के प्रदर्शन पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया है। प्रियंका ने कहा कि किसानों से समर्थन मूल्य छीनने वाले कानून के विरोध में किसान की आवाज सुनने की बजाय भाजपा सरकार उन पर भारी ठंड में पानी की बौछार मारती है। किसानों से सबकुछ छीना जा रहा है और पूंजीपतियों को थाल में सजा कर बैंक, कर्जमाफी, एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन बांटे जा रहे हैं।

दिल्ली की ओर कूच कर रहे किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस अंबाला के पास शंभू बॉर्डर पर वॉटर कैनन का इस्तेमाल कर रही है। किसान कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए दिल्ली आ रहे हैं।

किसानों के प्रदर्शन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि केंद्र सरकार के तीनों खेती बिल किसान विरोधी हैं। ये बिल वापिस लेने की बजाय किसानों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने से रोका जा रहा है, उन पर वॉटर कैनन चलाई जा रही हैं। किसानों पर ये जुर्म बिलकुल ग़लत है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन उनका संवैधानिक अधिकार है।

किसानों के ‘दिल्ली चलो’ आंदोलन के मद्देनज़र सिंघू बॉर्डर (दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर) पर भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। स्थिति पर नज़र रखने के लिए पुलिस ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रही है।

बंगाल में लेफ्ट यूनियनों ने किसानों के समर्थन में विरोध प्रदर्शन किया है, साथ ही नए लेबर लॉ का विरोध किया। कोलकाता में नए श्रम और कृषि कानूनों के खिलाफ देशव्यापी हड़ताल के दौरान लेफ्ट ट्रेड यूनियन के सदस्यों ने विरोध-प्रदर्शन किया।

दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर भारी सुरक्षाबल तैनात है, यहां पर ड्रोन कैमरे से भी प्रदर्शन पर नजर रखी जा रही है। हरियाणा में भी करनाल के पास पुलिस ने बैरिकेटिंग की है।

किसानों के ‘दिल्ली चलो’ आंदोलन के मद्देनज़र फरीदाबाद-दिल्ली बॉर्डर पर पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। फरीदाबाद पुलिस ने बताया,”हमारी टीम हर बॉर्डर पर तैनात है, हमें सरकार और विभाग के तरफ से निर्देश दिया गया है कि किसानों को 26-27 नवंबर को दिल्ली में प्रवेश न होने दिया जाए”