दिल्ली कोविड-19 : प्रगति मैदान और तालकटोरा स्टेडियम सहित इन स्थानों पर बनाए जा सकते हैं अस्थाई अस्पताल

दिल्ली सरकार की कमेटी ने दिल्ली में अतिरिक्‍त बेड की व्यवस्था करने के लिए प्रगति मैदान सहित दिल्‍ली के कुछ स्‍टेडियम को अस्‍थाई अस्‍पताल में तब्‍दील करने का सुझाव दिया है।

Avatar Written by: June 9, 2020 9:19 pm

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की चपेट में बुरी तरह आ चुकी दिल्ली की भविष्य की तस्वीर और भयानक होनेवाली है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के मुताबिक, दिल्ली में 31 जुलाई तक साढ़े पांच लाख केस हो सकते हैं। फिलहाल दिल्ली में 12.6 दिन में कोरोना केस डबल हो रहे हैं।

Manish Sisodiya Styendra Jain

सिसोदिया ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार मानती है फिलहाल दिल्ली में कम्यूनिटी स्प्रेड नहीं हो रहा है। जबकि दिल्ली सरकार को लगता है कि ऐसा शुरू हो चुका है। सिसोदिया ने यह बात एसडीएमए (स्टेट डिजॉस्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी) की बैठक के बाद कही। इसमें उपराज्यपाल अनिल बैजल भी शामिल थे।

Delhi Deputy CM Manish Sisodia

प्रगति मैदान सहित दिल्ली के कुछ स्टेडियम अस्थाई अस्पताल में तब्दील करने का सुझाव

दिल्ली सरकार की कमेटी ने दिल्ली में अतिरिक्‍त बेड की व्यवस्था करने के लिए प्रगति मैदान सहित दिल्‍ली के कुछ स्‍टेडियम को अस्‍थाई अस्‍पताल में तब्‍दील करने का सुझाव दिया है। कमेटी के अनुसार, कोरोना संक्रमण का शिकार हुए मरीजों के इलाज के लिए दिल्‍ली में स्थिति छह स्‍टेडियम और व्‍यापारिक केंद्र को अस्‍थाई अस्‍पताल में तब्‍दील किया जा सकता है।

hospital corona

दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल कार्यालय के अनुसार, जिन व्‍यापारिक केंद्र और स्‍टेडियम को अस्‍थाई अस्‍पताल में तब्‍दील करने का प्रस्‍ताव आया है, उसमें प्रगति मैदान, तालकटोरा इनडोर स्टेडियम, त्यागराज इनडोर स्टेडियम, इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम, जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम और  ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम शामिल हैं। कमेटी का सुझाव है कि ज़रूरत पड़ने पर इन परिसरों को मेक-शिफ्ट यानी काम चलाऊ हॉस्पिटल में तब्‍दील किया जा सकता है। वहीं, कमेटी के सुझाव पर अमल करते हुए दिल्‍ली सरकार ने डिविजनल कमिश्‍नर की अध्यक्षता में इस कमेटी को दिल्ली में अतिरिक्त बेड की संभावना तलाशने को कहा है।