Delhi Riots को लेकर कपिल मिश्रा पर एक निजी चैनल ने दिखाई झूठी खबर, दिल्ली पुलिस ने ऐसे खोली पोल

Delhi Riots : दिल्ली पुलिस(Delhi Police) का कहना है कि, “कपिल मिश्रा(Kapil Mishra) के पूरे बयान के रिकॉर्ड पर आ जाने से आहत एंकर ने असली व्हिसल ब्लोअर(Whistle Blower) को नजरअंदाज करते हुए दर्शकों को गुमराह करने का प्रयास किया है।”

Avatar Written by: September 25, 2020 9:51 am
Kapi Mishra Delhi Police

नई दिल्ली। इसी साल फरवरी में दिल्ली में हुए दंगों को लेकर एक निजी चैनल पर दिखाई गई खबर में भाजपा नेता कपिल मिश्रा पर आरोप लगाया गया कि ‘दिल्ली पुलिस की चार्जशीट ने कपिल मिश्रा को भड़काऊ भाषण वाला व्हिसल ब्लोअर कहा है।’ अब इसको लेकर दिल्ली पुलिस ने अपने एक ट्वीट में इसका पूरी तरह से न सिर्फ खंडन किया है बल्कि एंकर को जमकर लताड़ा भी है। इतना ही नहीं इस खबर पर कपिल मिश्रा ने भी अपनी भड़ास निकाली है। बता दें कि निजी न्यूज चैनल NDTV की एंकर ने कपिल मिश्रा को लेकर कहा कि, “उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों की जो चार्जशीट दिल्ली पुलिस ने पेश की है, उसपर सवाल उठ रहे हैं, चार्जशीट देखकर लगता है कि नफरती भाषण देने वाले नेता को दिल्ली पुलिस व्हिसल ब्लोअर बता रही है। ये सवाल उठ रहा है कि क्या दिल्ली पुलिस बीजेपी के कपिल मिश्रा के उकसावे को कम करके पेश कर रही है?” एंकर ने इस खबर में कहा है कि, “पुलिस का कहना है कि दंगे के आरोपियों ने कपिल मिश्रा के खिलाफ झूठी कहानी गढ़ी है।”

Delhi Riots petrol

एंकर ने कहा कि, “लगता है कि जैसे पुलिस नफरती भाषण के बावजूद कपिल मिश्रा की भूमिका को नजरअंदाज कर रही है।” इस खबर के मुताबिक दिल्ली दंगे में कपिल मिश्रा का भी बराबर का हाथ था, ये उनके भाषणों से जाहिर है, लेकिन दिल्ली पुलिस जो कह रही है उससे लगता है वो कपिल मिश्रा को छूट दे रही है।

खबर में कहा गया-

आपको बता दें कि इस पूरी खबर का दिल्ली पुलिस ने खंडन किया है और एंकर पर तथ्यों को छिपाकर एक कहानी रचते हुए शरारतपूर्ण कोशिश करने का आरोप लगाया। दिल्ली पुलिस ने ट्विटर पर एक नोट शेयर किया है कि, जिसमें लिखा है कि “इस खबर में एंकर ने कहा है कि ‘दिल्ली पुलिस की चार्जशीट ने कपिल मिश्रा को व्हिसल ब्लोअर कहा है।’ एंकर का ये कहना सत्य से परे हैं। दिल्ली पुलिस ने कहीं भी कपिल मिश्रा को व्हिसल ब्लोअर नहीं कहा है और न लिखा है। एंकर का नैरेटिव तब पूरा होता यदि दिल्ली पुलिस ने कपिल मिश्रा का पूरा बयान न लिया होता। परंतु कैमरे के सामने और स्टूडियों में पड़तालें नहीं होतीं।”

दिल्ली पुलिस का कहना है कि, “कपिल मिश्रा के पूरे बयान के रिकॉर्ड पर आ जाने से आहत एंकर ने असली व्हिसल ब्लोअर को नजरअंदाज करते हुए दर्शकों को गुमराह करने का प्रयास किया है।”

दिल्ली पुलिसका जवाब देखिए

delhi police note NDTV

दिल्ली पुलिस के जवाब के बाद कपिल मिश्रा ने भी चैनल की इस खबर टिप्पणी करते हुए अपने ट्वीट में लिखा कि, “दिल्ली पुलिस ने बयान जारी करके NDTV के एक एक झूठ का पर्दाफाश कर दिया हैं कल सारे दिन NDTV और श्रीनिवासन जैन ने मेरे खिलाफ झूठी खबरें दिखाई NDTV इस्लामिक आतंकवादियों को बचाना चाहता हैं? दिल्ली दंगों पर रोज झूठ दिखा रहा हैं NDTV”

Kapil Mishra Tweet NDTv

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने दिल्ली दंगों को लेकर जो चार्जशीट दायर की है उसमें पूर्व आम आदमी पार्टी पार्षद ताहिर हुसैन,पिंजरा तोड़ की नताशा नरवाल और देवांगना कलिता, डीयू की पूर्व स्टूडेंट गुलफिशा, जामिया मिलिया इस्लामिया की पीएचडी स्टूडेंट मीरान हैदर और जामिया कोऑर्डिनेशन कमिटी की मीडिया कोऑर्डिनेटर सफूरा जरगर समेत कई लोग शामिल हैं।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी पीएस कुशवाहा और एसीपी आलोक कुमार के हस्ताक्षर से तैयार फाइनल रिपोर्ट में कहा गया है, ‘अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर, आतंकी कृत्‍य उसे कहा जाता है जिसमें हिंसा के जरिए सरकार को अपनी राजनीतक मांगें मानने के लिए मजबूर किया जाता है।’

Support Newsroompost
Support Newsroompost