वीर सावरकर के खिलाफ कांग्रेस की विवादास्पद किताब को मिला दिग्विजय सिंह का साथ

कांग्रेस एक बार फिर एक बड़े विवाद में फंसती नज़र आ रही है। कांग्रेस सेवा दल के प्रशिक्षण कैंप में पहुंचे दिग्विजय सिंह ने सावरकर पर लिखी गयी विवादास्पद किताब का समर्थन किया है।

Written by: January 8, 2020 4:24 pm

नई दिल्ली। कांग्रेस एक बार फिर एक बड़े विवाद में फंसती नज़र आ रही है। कांग्रेस सेवा दल के प्रशिक्षण कैंप में पहुंचे दिग्विजय सिंह ने सावरकर पर लिखी गयी विवादास्पद किताब का समर्थन किया है।

सावरकर को लेकर सेवा दल कैंप में रखी गई किताब को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा, “सेवा दल के कैंप में किताब रखने पर आप सबको बधाई। इससे पूरे देश में इस कैंप का प्रचार हो गया। 20 साल पहले किताब लिखी गई तब आरएसएस और हिंदू महासभा के लोग सो रहे थे क्या?”

ध्यान देने वाली बात है कि इस किताब में सावरकर को लेकर घटिया टिप्पणियां की गयीं हैं। उन्हें समलैंगिक कहा गया है। दिग्विजय सिंह ने इस किताब का समर्थन करते हुए कहा, “हम किसी के निजी जीवन पर टिप्पणी नहीं करते। लेकिन जो लिखा है उसका उल्लेख करने में कुछ गलत नहीं है। सावरकर के जीवन के दो पहलू थे,,, एक उन्होंने कालापानी की सजा भोगी। दूसरा उन्होंने अंग्रेजों से माफी मांगी।”

digvijay singh

दिग्विजय ने साध्वी प्रज्ञा के बहाने बीजेपी पर निशाना साधा। दिग्विजय ने सरस्वती शिशु मंदिर को भी नही छोड़ा। उन्होंने कहा, “ये संकुचित मानसिकता वाले लोग हैं। इन्होंने एक ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया जिस पर मालेगांव ब्लास्ट का केस चल रहा है। सरस्वती शिशु मंदिर में नफरत सिखाई जाती है। नफरत हिंसा सिखाती है और हिंसा आतंकवाद पैदा करती है।