Connect with us

देश

Ankita Bhandari Murder Case: अंकिता की हत्या में 150 किलोमीटर की दूरी भी बनी वजह, दोस्त को बताई थी ये बात

अंकिता की हत्या के मामले में एसआईटी की जांच तेज हो गई है। एसआईटी अब नहर से पुलकित का मोबाइल फोन तलाश रही है। इस फोन को अंकिता ने छीनकर नहर में फेंक दिया था। इसके बाद ही पुलकित ने अपने दो साथियों की मदद से अंकिता को नहर में फेंक दिया था।

Published

on

ankita bhandari

ऋषिकेश। उत्तराखंड को अंकिता भंडारी हत्याकांड ने हिला दिया है। बीजेपी नेता के बेटे पुलकित आर्या के वनतारा रिसॉर्ट में अंकिता काम करती थी। वहां उस पर आने वाले गेस्ट्स के साथ वेश्यावृत्ति करने का दबाव डाला जा रहा था। अंकिता इसके लिए तैयार नहीं थी। वो रिसॉर्ट में रहना नहीं चाहती थी, लेकिन 150 किलोमीटर की दूरी ने उसे रिसॉर्ट में ही रहकर नौकरी करने के लिए मजबूर कर दिया था। अंकिता के दोस्त ने पुलिस को बताया है कि वो रिसॉर्ट में और रहना नहीं चाहती। दोस्त ने अंकिता से कहा था कि 19 सितंबर को वो आकर उसे घर पहुंचा देगा, लेकिन 18 सितंबर को ही अंकिता की हत्या हो गई।

Ankita Bhandari

अब आपको बताते हैं कि 150 किलोमीटर की दूरी की बात आखिर है क्या और अंकिता इसकी वजह से रिसॉर्ट में रहने के लिए क्यों मजबूर थी। दरअसल, अंकिता का गांव उत्तराखंड के पौड़ी जिले में है। गांव का नाम तल्ली है। तल्ली गांव में अंकिता का परिवार रहता है। इस गांव से पुलकित के रिसॉर्ट की दूरी 150 किलोमीटर है। जब अंकिता पर वेश्यावृत्ति करने का दबाव पड़ने लगा, तो उसने रिसॉर्ट में रहने की जगह गांव जाना चाहा, लेकिन दूरी ज्यादा होने से वो रोज आ-जा नहीं सकती थी। आखिर में वो जब नौकरी छोड़कर घर जाने के लिए तैयार हुई, तब तक हैवानों ने उसे मौत के मुंह में पहुंचा दिया।

ankita bhandari murder accused pulkit arya

इस बीच, अंकिता की हत्या के मामले में एसआईटी की जांच तेज हो गई है। एसआईटी अब नहर से पुलकित का मोबाइल फोन तलाश रही है। इस फोन को अंकिता ने छीनकर नहर में फेंक दिया था। इसके बाद ही पुलकित ने अपने दो साथियों की मदद से अंकिता को नहर में फेंक दिया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि अंकिता को मरने से पहले कई चोटें लगी थीं। एसआईटी को शक है कि उसकी हत्या से पहले पुलकित वगैरा ने अंकिता की जमकर पिटाई भी की थी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement