भूकंप के झटकों से हिला नागालैंड, रिक्टर स्केल पर 3.5 की रही तीव्रता

भूकंप आने के पीछे मुख्‍य वजह धरती के अंदर 7 प्लेट्स ऐसी होती हैं जो लगातार घूम रही हैं। ये प्लेट्स जिन जगहों पर ज्यादा टकराती हैं, उसे फॉल्ट लाइन जोन कहा जाता है।

Avatar Written by: July 14, 2020 9:42 am

नई दिल्ली। एक बार फिर भूकंप के झटकों से देश का उत्तर-पूर्वी हिस्सा हिल गया है। मंगलवार की सुबह उत्तर-पूर्वी राज्य नागालैंड के लोन्गलेंग जिले में भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसको लेकर नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने बताया कि, नागालैंड के लॉन्गलेन्ग जिले में आज ​​सुबह 8:32 बजे 3.5 तीव्रता का भूकंप आया। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 3.5 रही।

earthquake

भूकंप आने के पीछे मुख्‍य वजह धरती के अंदर 7 प्लेट्स ऐसी होती हैं जो लगातार घूम रही हैं। ये प्लेट्स जिन जगहों पर ज्यादा टकराती हैं, उसे फॉल्ट लाइन जोन कहा जाता है। बार-बार टकराने से प्लेट्स के कोने मुड़ते हैं। जब प्रेशर ज्यादा बनने लगता है कि तो प्लेट्स टूटने लगती हैं। इनके टूटने के कारण अंदर की एनर्जी बाहर आने का रास्ता खोजती है। इसी डिस्टर्बेंस के बाद भूकंप आता है।

EARTHQUAKE

सीस्मोलॉजिस्ट एक बड़े हिमालयी भूकंप (Himalayan earthquake) को लेकर चिंतित हैं। हाल ही में वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि शिमला जैसे पर्वतीय शहरों के साथ-साथ नई दिल्ली जैसे मैदानी इलाकों के शहर इस आने वाले भूकंप को लेकर तैयार नहीं हैं।