Connect with us

देश

Maharashtra Political Crisis: सरकार बचाने के लिए अब ये चाल चलने जा रहे उद्धव और शरद पवार, पर गणित फिलहाल कमजोर

इस बीच, शरद पवार के साथ बैठक के बाद उद्धव ठाकरे ने बयान जारी कर बागियों पर निशाना साधा। उन्होंने ये तक कहा कि इनमें से तमाम ऐसे थे, जो विधानसभा का चुनाव जीत नहीं सकते थे। बावजूद इसके इनको मैंने टिकट दिया और जिताया भी। उन्होंने बागियों को विश्वासघाती भी कहा।

Published

on

uddhav and sharad pawar

मुंबई। महाराष्ट्र में शिवसेना में जारी सियासी उठापटक के खेल का अब विधानसभा में अंतिम नतीजा निकलने की उम्मीद है। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी NCP के अध्यक्ष शरद पवार और शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे के बीच शुक्रवार को चली बैठक में ये फैसला हुआ कि विधानसभा का सत्र बुलाकर उसमें विश्वासमत का प्रस्ताव रखा जाए। शिवसेना सूत्रों के मुताबिक उद्धव ठाकरे पहले इस पर राजी नहीं थे, लेकिन शरद पवार ने उनको मना लिया कि विधानसभा में शक्ति परीक्षण में अगर महाविकास अघाड़ी MVA ने बहुमत साबित कर दिया, तो एकनाथ शिंदे को सबक भी मिल जाएगा और बीजेपी को बाकी कार्यकाल यानी करीब ढाई साल के लिए फिर सिर उठाने का मौका भी नहीं मिलेगा।

eknath shinde

उद्धव और शरद पवार की नई चाल में आंकड़ों के गणित का बड़ा महत्व है। महाराष्ट्र विधानसभा में कुल 288 सीटें हैं। एक सीट खाली है। यानी 287 सदस्यों में से 144 बहुमत की संख्या होती है। शिवसेना में बगावत से पहले 55 विधायक थे। अब इनमें से 40 एकनाथ शिंदे के साथ हैं। एनसीपी के 53 और कांग्रेस के 44 विधायक हैं। वहीं, बीजेपी के 106 विधायक हैं और छोटे दलों और निर्दलीयों के साथ मिलकर उसके गठजोड़ की ताकत 114 तक पहुंचती है। इससे पहले ही शरद पवार कह चुके हैं कि नियमों के तहत बहुमत का परीक्षण विधानसभा के फ्लोर पर ही हो सकता है। यही फैसला बोम्मई केस में सुप्रीम कोर्ट भी दे चुका है। शरद पवार ये भी कह चुके हैं कि बागी विधायक जब मुंबई लौटेंगे, तो उनकी भावना भी बदल सकती है। हालांकि, उद्धव से बगावत करने वाले नेता एकनाथ शिंदे ने भी दावा कर रखा है कि फिलहाल उनके साथ 40 विधायक हैं और ये संख्या 50 तक पहुंचने वाली है। अब शिवसेना और एनसीपी की नजर इस पर है कि किसी तरह शिंदे कैंप में गए विधायकों को मनाया जाए और उन्हें वापस उद्धव की तरफ लाया जाए। हालांकि, उद्धव भी ये कोशिश कर चुके हैं, लेकिन उनको सफलता नहीं मिल सकी है।

uddhav defeated

इस बीच, शरद पवार के साथ बैठक के बाद उद्धव ठाकरे ने बयान जारी कर बागियों पर निशाना साधा। उन्होंने ये तक कहा कि इनमें से तमाम ऐसे थे, जो विधानसभा का चुनाव जीत नहीं सकते थे। बावजूद इसके इनको मैंने टिकट दिया और जिताया भी। उद्धव ने ये भी कहा कि ऐसे लोग जो आज बगावत कर रहे हैं, वे विश्वासघाती हैं। कुल मिलाकर शिवसेना और एनसीपी मिलकर हर तरह के दांव-पेच चल रहे हैं। जबकि, बागी विधायक अब भी एकनाथ शिंदे का साथ छोड़ते नहीं दिख रहे।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
मनोरंजन2 weeks ago

Boycott Laal Singh Chaddha: क्या Mukesh Khanna ने Aamir Khan की फिल्म के बॉयकॉट का किया समर्थन, बोले-अभिव्यक्ति की आजादी सिर्फ मुस्लिमों के पास है, हिन्दुओं के पास नहीं

मनोरंजन6 days ago

Karthikeya 2 Review: वेद-पुराणों का बखान करती इस फ़िल्म ने लाल सिंह चड्डा के उड़ाए होश, बॉक्स ऑफिस पर खूब बरस रहे पैसे

दुनिया3 weeks ago

Saudi Temple: सऊदी अरब में मिला 8000 साल पुराना मंदिर और यज्ञ की वेदी, जानिए किस देवता की होती थी पूजा

milind soman
मनोरंजन2 weeks ago

Milind Soman On Aamir Khan: ‘क्या हमें उकसा रहे हो…’; आमिर के समर्थन में उतरे मिलिंद सोमन, तो भड़के लोग, अब ट्विटर पर मिल रहे ऐसे रिएक्शन

मनोरंजन1 week ago

Mukesh Khanna: ‘पति तो पति, पत्नी बाप रे बाप!..’,रत्ना पाठक के करवाचौथ पर दिए बयान पर मुकेश खन्ना की खरी-खरी, नसीरुद्दीन शाह को भी लपेटा

Advertisement