Hathras case : यूपी में दंगे कराने की साजिश पर पुलिस का बड़ा खुलासा…

Hathras case updates : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस कांड (Hathras case) को लेकर हर रोज नए बड़े खुलासे हो रहे हैं। एक तरफ जहां विपक्षी दल इस मसले को लेकर राजनीति करने में जुटी हुई है। वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हाथरस केस को लेकर लगातार कड़ी कार्रवाई कर रही है।

Avatar Written by: October 9, 2020 5:45 pm
Hathras case

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस कांड (Hathras case) को लेकर हर रोज नए बड़े खुलासे हो रहे हैं। एक तरफ जहां विपक्षी दल इस मसले को लेकर राजनीति करने में जुटी हुई है। वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हाथरस केस को लेकर लगातार कड़ी कार्रवाई कर रही है। इसी बीच हाथरस कांड की जांच में अब एक यूपी पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। जैसे-जैसे इस मामले की जांच आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे इस केस से जुड़े लोगों के राज से भी पर्दा उठा रहा है। जांच एजेंसियों को इस पूरी घटनाक्रम में भीम आर्मी से लेकर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (Popular Front of India) और विदेशी फंडिंग से लेकर खनन माफिया तक से कनेक्शन जुड़ने के संकेत मिल रहे हैं।

hathras

इन सबके बीच यूपी पुलिस ने बड़ा दावा किया है। दरअसल यूपी पुलिस के मुताबिक पीड़िता को इंसाफ दिलाने की आड़ में यूपी में दंगा भड़काने की साजिश रची जा रही थी और इसके लिए विदेशों से फंडिंग की जा रही थी। मामले की जांच में कई अहम जानकारियां मिलने के बाद अब पुलिस भी एक्शन मोड में आ गई है और इस षड्यंत्र को अंजाम देने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया गया है।

hathras sit team

बता दें कि यूपी में शांति भंग करने करने के आरोप में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के मुखपत्र के संपादक को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार संपादक शाहीन बाग के पीएफआई दफ्तर का सचिव भी है। वहीं जांच के बीच हाथरस में हिंसा फैलाने की इस साजिश में भीम आर्मी का नाम भी सामने आया है। जांच एजेंसियों को ऐसे सबूत हाथ लगे हैं जो इस ओर इशारा कर रहे हैं कि हाथरस की आड़ में पीएफआई और भीम आर्मी मिलकर दंगा भड़काने की कोशिश कर रहे थे।

UP Police Hathras Last Rites

वहीं इस मामले में विदेशी फंडिंग की बात सामने आने के बाद यूपी पुलिस ने इस केस से जुड़े सभी संदिग्ध लोगों के बैंक ट्रांजेक्शन की जांच शुरू कर दी है। जांच में इस बात के भी संकेत मिले हैं कि PFI ने अपने इस षड्यंत्र में भीम आर्मी को शामिल किया और यूपी में दंगा फैलाने के लिए फंडिंग की। शुरुआती जांच में एक संदिग्ध के अकाउंट में भारी ट्रांजेक्शन हुआ है। अब इस मामले से जुड़े अन्य लोगों के अकाउंट की जांच की जा रही है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost