Coronavirus New Strain: नए कोरोना स्ट्रेन को देखते हुए गृह मंत्रालय की नई गाइडलाइंस, जानिए क्या है इसमें खास…

Coronavirus New Strain: कोरोनावायरस (Coronavirus) के कहर से अभी पूरी दुनिया पूरी तरह से ऊबर भी नहीं पाई है कि इसी बीच इस वायरस के नए स्ट्रेन की खबर ने कोहराम मचाकर रख दिया है। मामला सबसे पहले ब्रिटेन से आया और आशंका जताई जा रही है कि ये नया कोरोनावायरस पहले वायरस के मुकाबले 70 प्रतिशत ज्यादा खतरनाक है।

Avatar Written by: December 22, 2020 5:01 pm
home ministry

नई दिल्ली। कोरोनावायरस (Coronavirus) के कहर से अभी पूरी दुनिया पूरी तरह से ऊबर भी नहीं पाई है कि इसी बीच इस वायरस के नए स्ट्रेन की खबर ने कोहराम मचाकर रख दिया है। मामला सबसे पहले ब्रिटेन से आया और आशंका जताई जा रही है कि ये नया कोरोनावायरस पहले वायरस के मुकाबले 70 प्रतिशत ज्यादा खतरनाक है। हालांकि विशेषज्ञों की तरफ से इस बात को लेकर कोई खास अंदेशा नहीं जताया जा रहा है। लेकिन यह खबर जरूर आ रही है कि इसका प्रसार केवल ब्रिटेन में ही नहीं बल्कि कई यूरोपीय देशों में इसका संक्रमण फैल चुका है। बताया जा रहा है कि ब्रिटेन के अलावा इटली, नीदरलैंड, डेनमार्क, ऑ‍स्‍ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में भी इस नए कोरोना स्ट्रेन के मिलने की खबर है। इसके बाद से ही दुनिया के कई देशों ने यूरोपीय देशों के साथ अपनी विमानन सेवा पर प्रतिबंध लगा दिया है। भारत की तरफ से भी ब्रिटेन से आने और जाने वाली सभी विमानन सेवाओं को 22 दिसंबर की रात से लेकर 31 दिसंबर की रात तक रोकने का आदेश जारी किया गया है।

Corona Virus

अब इस पूरे मामले की संजीदगी को देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्रालय की तरफ से गाइडलाइंस जारी की गई है। इस गाइडलाइंस के मुताबिक कोरोना के नए स्ट्रेन को देखते हुए फैसला लिया गया है कि लंदन और ब्रिटेन से पिछले एक महीने के अंदर भारत आए यात्रियों की कोरोना टेस्ट कराया जाएगा साथ ही उनका कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग भी की जाएगी और इसके साथ ही उनको पूरी निगरानी में रखा जाएगा। गृह मंत्रालय के इस गाइडलाइंस की मानें तो पिछले 1 महीने यानि 25 नवंबर के बाद यूके से भारत आए सभी यात्रियों की पहचान कर उनपर नजर रखने की बात कही गई है और जरूरत पड़ने पर उनका कोरोना टेस्ट कराने के लिए भी कहा गया है।

home ministry

नई गाइडलाइंस में गृह मंत्रालय ये भी स्पष्ट कर दिया है कि चूकि नए कोरोना स्ट्रेन को ज्यादा घातक माना जा रहा है ऐसे में अभी यूरोपीय देशों से जो लोग आए हैं उनमें से कोरोना पॉजिटिव निकले व्यक्तियों के संपर्क में आए सभी लोगों को संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा और आईसीएमआर की गाइडलाइंस के तहत उनके टेस्ट होंगे। इस दौरान जो लोग टेस्ट में पॉजिटिव मिले हैं और आगे भी जो पॉजिटिव होंगे उन्हें भी संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा और उनके सैंपल आगे जांच के लिए पुणे स्थित लैब में भेजे जाएंगे। इसके साथ ही कहा गया है कि जो भी यात्री यात्रा कर लौटे हैं उनका पता सरकारों से साझा किया जाएगा और निगेटिव आए लोगों को भी नियमों के तहत अपने-अपने घरों में क्वारंटीन रहने की सलाह दी गई है।

लंदन से लौटी फ्लाइट, दिल्ली में मिले 5 और कोलकाता में मिले 2 कोरोना पॉजिटिव

बीती रात वहां से दिल्ली लौटी एक फ्लाइट में सवार 266 लोगों में से पांच की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उनके सैम्पल रिसर्च के लिए नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (NCDC) भेजे गए हैं। सभी पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स को आइसोलेशन में रखा गया है।

Coronavirus

नोडल अधिकारी ने बताया कि, सोमवार रात ब्रिटेन की राजधानी लंदन से दिल्ली हवाई अड्डे पर पहुंचे 266 यात्रियों और चालक दल के सदस्यों में से पांच लोग कोरोना से संक्रमित मिले हैं। उनके नमूने को जांच के लिए एनसीडीसी को भेज दिया गया है और संक्रमितों को देखभाल केंद्र भेजा गया है।

वहीं कोलकाता (Kolkata ) हवाई अड्डे के अधिकारी ने जानकारी दी है कि ब्रिटेन से कोलकाता पहुंचे दो यात्री रविवार को  कोरोना संक्रमित पाए गए।

Support Newsroompost
Support Newsroompost