कोरोनावायरस की वजह से 74 साल में पहली बार अलग तरह से होगा आजादी का जश्न

गृह मंत्रालय(Home Ministry) की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि लाल किले में होने वाले समारोह में प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर, 21 तोपों की सलामी, प्रधानमंत्री(Prime Minister) का भाषण और राष्ट्रगान शामिल होगा।

Avatar Written by: August 14, 2020 4:50 pm

नई दिल्ली। आजादी का जश्न हर बार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता रहा है लेकिन इस बार कोरोना के खतरे को देखते हुए 74 साल में पहली बार स्वतंत्रता दिवस कुछ अलग अंदाज में मनाया जाएगा। जहां लाल किले का मैदान खचाखच भरा होता था, वहीं इस बार पीएम मोदी के भाषण के दौरान कुछ मेहमान ही नजर आएंगे। वहां मौजूद लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दूर-दूर बैठे होंगे।

corona medicine

आमतौर पर स्वतंत्रता दिवस समारोह के मौके पर सरकारी कार्यालयों, स्कूलों आदि में समारोह का आयोजन होता है। मगर इस बार ऐसा नहीं होगा। गृह मंत्रालय ने राज्यों और राज्यपालों के निर्देश दिए हैं कि सार्वजनिक आयोजनों से बचा जाए। समारोह के लिए प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया जाएगा। इस बार स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में स्कूली बच्चे भी नजर नहीं आएंगे।

modi red fort spl

देश में कोरोना की रफ्तार तेजी के साथ बढ़ती चली जा रही है। रोजाना 60 हजार से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में सभी तरह के सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगी हुई है। वहीं इस बार लाल किले की प्राचीर से जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम संबोधन देंगे तब वहां कम ही मेहमान नजर आएंगे। इस दौरान जगह-जगह हैंड सैनिटाइजर रखे जाएंगे। सभी के लिए मास्क पहनकर आना जरूरी होगा। बैठने की अलग व्यवस्था होगी और दो गज की दूरी सुनिश्चित की जाएगी।

माना जा रहा है कि केंद्रीय मंत्रियों, वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा कोरोना योद्धाओं को भी न्योता दिया जा सकता है। गृह मंत्रालय की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि लाल किले में होने वाले समारोह में प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर, 21 तोपों की सलामी, प्रधानमंत्री का भाषण और राष्ट्रगान शामिल होगा।

red fort

इस बार पीएम मोदी के भाषण का मुख्य केंद्र बिंदु ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’, कोरोना वैक्सीन, सीमा सुरक्षा और कोरोना की लड़ाई में स्वदेशी अभियान ने किस तरीके से बढ़-चढ़कर कदम उठाया है, इन विषयों पर हो सकता है। लाल किले के आसपास तैनात पुलिसकर्मी पीपीई किट पहने हुए दिखाई देंगे।

वहीं इसके अलावा मेहमानों के बीच बैठने की दूरी को बढ़ाया जाएगा। हर साल लाल लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस समारोह के मौके पर लगभग एक हजार के करीब विशेष अतिथि बुलाए जाते हैं लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। इस साल संख्या को 250 के करीब ही रखा जाएगा। 15 अगस्त की दोपहर को राष्ट्रपति भवन में जो ‘एट होम’ कार्यक्रम होता है उसमें भी कोरोनानियमों का ध्यान रखा जाएगा। इसके अलावा थीम कोरोना योद्धाओं को समर्पित की जाएगी।

Support Newsroompost
Support Newsroompost