Connect with us

देश

MEA Annual Report: ’26/11 मुंबई हमले में…’, भारत ने खोली पाकिस्तान की पोल, पेश की ये रिपोर्ट

India made big disclosure about 26/11 attack : इसी में उसी की भलाई है, लेकिन अभी तक पाकिस्तान की तरफ से इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया है । विदेश मंत्रालय ने आगे कहा कि पाकिस्तान अपनी मौजूदा दुश्वारियों से लोगों को ध्यान भटकाने के लिए वैश्विक मंच का दुरुपयोग कर नफरती बयानबाजी करता है।

Published

नई दिल्ली। भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपनी वार्षिक प्रतिवेदन में दावा किया है कि 26/11 के हमले की जांच मामले में बिल्कुल भी संजीदा नहीं है। आज भी हमले के दोषी पाकिस्तान की गलियारों में निर्भय घूम रहे हैं। बीते दिनों मशहूर गीतकार जावेद अख्तर ने उक्त हमले का जिक्र कर पाकिस्तान को आईना दिखाया था। जिसके बाद देशभर में जावेद अख्तर की प्रशंसा भी हुई थी। वहीं अब मुंबई हमले को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय ने प्रतिवेदन जारी कर पड़ोसी मुल्क की हकीकत का पर्दाफाश किया है। बता दें कि प्रतिवर्ष भारतीय विदेश मंत्रालय उक्त हमले के संदर्भ में प्रतिवेदन सार्वजनिक कर पड़ोसी मुल्क के झूठ का पर्दाफाश करता है, लेकिन इसके बावजूद भी पाकिस्तान को बिल्कुल भी शर्म नहीं आती है। कई बार संयुक्त राष्ट्र के मंच पर भी पाकिस्तान को 26/11 हमले के दोषियों के प्रति ढुलमुल रवैया अपनाए जाने की वजह से लताड़ लगाई जा चुकी है, लेकिन उसका यह रुख अभी-भी जारी है। वहीं, भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान को हिदायत दी कि उसे आतंकवाद पर सख्त रुख अख्तियार कर भारत से संबंध सुधारने की दिशा में कदम उठाने चाहिए।

इसी में उसी की भलाई है, लेकिन अभी तक पाकिस्तान की तरफ से इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया है। विदेश मंत्रालय ने आगे कहा कि पाकिस्तान अपनी मौजूदा दुश्वारियों से लोगों को ध्यान भटकाने के लिए वैश्विक मंच का दुरुपयोग कर नफरती बयानबाजी करता है। पाक को फटकार लगाते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा कि आतंकवाद के मोर्चे पर पाकिस्तान को विश्वनीय कार्रवाई करनी चाहिए, क्योंकि आतंकवाद से किसी भी मुल्क का भला नहीं है। आतंकवाद के मोर्चे पर पाकिस्तान द्वारा अपनाया जा रहा ढुलमुल रवैया एक दिन उसकी लुटिया डुबो कर रख देगा। बहरहाल, अब देखना होगा कि भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा फटकार लगाए जाने के बाद पाकिस्तान की ओर से क्या कुछ कदम उठाए जाते हैं। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।

बता दें कि 26 नवंबर 2008 को मुंबई के ताज होटल सहित अन्य स्थानों पर हमले हुए थे। जिसमें 166 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। इसमें 20 विदेशी नागरिक भी शामिल थे। वहीं हमले में पाकिस्तान के भी सहयोग की बात प्रकाश में आई थी। कई जांच एजेंसियों ने दावा किया गया कि पाकिस्तान में हमले में शामिल कई आतंकवादी आज भी पाकिस्तान में खुलेआम घूम रहे हैं। पाकिस्तान पर आरोप है कि उसने हमले में शामिल आतंकवादियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

Advertisement
Advertisement
Advertisement