चीन से तनाव पर बोले कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, ‘मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता’

बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा था चीन के साथ सीमा पर चल रहे घटनाक्रम को लेकर सरकार को पारदर्शी तरीके से पूरे देश को जानकारी देनी चाहिए। राहुल गांधी ने कहा था कि नेपाल में क्या हुआ, कैसे हुआ, लद्दाख में क्या हुआ, सरकार को बताना चाहिए।

Written by: May 27, 2020 3:12 pm

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा के पास जारी तनाव पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने बुधवार को इस मसले से जुड़े सवाल का एक लाइन में जवाब देते हुए कहा कि ‘मैं बस इतना कहना चाहता हूं कि नरेंद्र मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता।’ कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने चीन से जारी तनाव पर और ज्यादा बोलने से इन्कार करते हुए प्रेस कांफ्रेंस का विषय कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ओर से सरकार पर उठाए गए सवालों का सिलसिलेवार रूप से जवाब देने पर केंद्रित रखा।

PM Narendra Modi and Ravi Shankar Prasad

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब कि चीन की हरकतों पर भारत सरकार के जवाबी कदम पर देश ही नहीं बल्कि दुनिया की नजर है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस बयान से भारत के अटल इरादों के बारे में जता दिया है कि वह चीन के दबाव में आने वाला नहीं है।

Ravi Shankar Prasad

बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा था चीन के साथ सीमा पर चल रहे घटनाक्रम को लेकर सरकार को पारदर्शी तरीके से पूरे देश को जानकारी देनी चाहिए। राहुल गांधी ने कहा था कि नेपाल में क्या हुआ, कैसे हुआ, लद्दाख में क्या हुआ, सरकार को बताना चाहिए। राहुल गांधी ने बाद में यह कहा कि चीन के मुद्दे पर वह ज्यादा न बोलते हुए मुद्दे को सरकार की दूरदर्शिता पर छोड़ते हैं।

Ravi Shankar Prasad

दरअसल, पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास पिछले कुछ दिनों से चीन की तरफ से सैन्य गतिविधियों के बढ़ने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव है। भारत के अपनी सीमा के अंदर सड़क निर्माण करने पर चीन विरोध जता रहा है। चीन की हरकतों को लेकर भारत भी अलर्ट मोड में है। दोनों देशों की सेनाओं की हाल में सीमा पर गतिविधियां बढ़ीं हैं। बताया जा रहा है कि 2017 में उपजे डोकलाम विवाद जैसी स्थिति फिर से दोनों देशों के बीच उत्पन्न हुई है।