अब रेलवे में सफर होगा आरामदेह, लोगों की जेब पर भी नहीं पड़ेगा बोझ, एसी वाले डिब्बों में बदले जा रहे हैं ये कोच…

कोरोनावायरस महामारी (Novel Coronavirus) के बीच भारतीय रेलवे (Indian Railway) आपकी यात्रा को थोड़ा और सुगम बनाने के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है।

Avatar Written by: September 9, 2020 6:18 pm
indian railway

नई दिल्ली। कोरोनावायरस महामारी (Novel Coronavirus) के बीच भारतीय रेलवे (Indian Railway) आपकी यात्रा को थोड़ा और सुगम बनाने के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है। इसी कड़ी में अब यात्रियों की सहूलियत के लिए रेलवे ने एक बड़ा प्लान बनाया है। दरअसल अब स्लीपर क्लास को इकोनॉमिक एसी कोच (Economic AC Coach) में बदलने की तैयारी की जा रही है। खास बात ये है कि इसका आम लोगों की जेब पर बहुत ज्यादा असर भी नहीं पड़ेगा।रिपोर्ट के मुताबिक आम नागरिकों को कम किराए में AC कोच में सफर करने की सुविधा देने के मकसद से रेलवे ये कदम उठाने जा रहा है।

indian railways

एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, कपूरथला रेल कोच फैक्ट्री में यह काम किया जा रहा है। पहले चरण में ऐसे 230 कोच बनाए जा रहे हैं,हर कोच को बनाने में करीब 2.8 से 3 करोड़ रुपए तक का खर्च आ सकता है। इनके लिए एक अलग से डिजाइन तैयार किया जा रहा है। रेलवे को उम्मीद है कि इकोनॉमिकल एसी 3-टियर से अच्छी कमाई होगी। क्योंकि इसमें ज्यादा से ज्यादा लोग सफर करेंगे। इसके अलावा अनआरक्षित जनरल क्लास के डिब्बों को भी 100 सीट के एसी डिब्बों में बदलने की योजना बनाई गई है।

indian-railways

रिपोर्ट के मुताबिक, 3-टीयर नॉन एसी स्लीपर क्लास और गैर आरक्षित जनरल क्लास के डिब्बों को एसी कोच बनाया जाएगा। एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि यह सस्ती ‘एसी 3-टियर क्लास’ होगी। साथ ही उन्होंने बताया कि इसे अपग्रेड ‘एसी 3-टियर टूरिस्ट क्लास’ (AC 3-tier Tourist Class) नाम दिया जाएगा। वहीं किराये के बारे में अधिकारी ने बताया है कि वह एसी 3-टियर क्लास और नॉन-एसी स्लीपर क्लास के किराये के बीच रखा जाएगा।

Indian Railway

बताया जाता है कि साल 2004 से 2009 के बीच भी इकोनॉमिकल एसी 3-टियर क्लास डिब्बों को तैयार करने की योजना बनाई गई थी। जिसके बाद गरीब रथ एक्सप्रेस ट्रेनें लॉन्च हुई थी। यात्रियों ने इसमें सफर के दौरान परेशानी की बात कही थी। साथ ही दूसरी दिक्कतें भी होने लगी। इसी के चलते रेलवे ने बड़ा कदम  इसका प्रोडक्शन बंद कर दिया गया था।

Support Newsroompost
Support Newsroompost