Himachal Election Results: हिमाचल में बीजेपी-कांग्रेस के बीच जारी कांटे की टक्कर के बीच जयराम ठाकुर पर जनता ने फिर जताया भरोसा, पहनाया जीत का ताज

कभी बीजेपी आगे चल रही है, तो कभी कांग्रेस आगे चल रही है। ऐसी स्थिति में स्पष्ट नतीजों के लिए हमें कुछ वक्त और धैर्य रखना होगा। खैर, हिमाचल के नतीजे किसी भी पार्टी के पक्ष में आए, लेकिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के लिए बड़ी खुशखुबरी सामने आ रही है। आपको बता दें, जयराम ने भारी मतों से जीत दर्ज की है।

सचिन कुमार Written by: December 8, 2022 11:12 am

नई दिल्ली। हिमाचल प्रदेश चुनाव के नतीजों को लेकर सामने आ रहे रूझानों में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है। कभी बीजेपी आगे चल रही है, तो कभी कांग्रेस आगे चल रही है। ऐसी स्थिति में स्पष्ट नतीजों के लिए हमें कुछ वक्त और धैर्य रखना होगा। खैर, हिमाचल के नतीजे किसी भी पार्टी के पक्ष में आए, लेकिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के लिए बड़ी खुशखुबरी सामने आ रही है। आपको बता दें, जयराम ने भारी मतों से जीत दर्ज की है। सीएम जयराम ठाकुर सेराज विधानसभा सीट से चुनाव जीत चुके हैं। बताया जा रहा है कि हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर 20 हजार से अधिक वोटों से जीते हैं।

jayram thakur

ध्यान रहे, जयराम ठाकुर ने ऐसे वक्त में यह जीत हासिल की है, जब प्रदेश में कांग्रेस-बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है, जिसे बीजेपी के लिए शुभ संकेत के रूप में देखा जा रहा है। प्रदेश में यह वर्षों सियासी रवायत चली आ रही है कि पांच साल कांग्रेस तो पांच बीजेपी का शासन रहा है। ऐसे में इस बार यह रवायत कायम रहती है या ध्वस्त होती है। इस पर फिलहाल कोई भी टिप्पणी करने से पहले अंतिम नतीजों के आने का इंतजार करना होगा। ध्यान रहे, बीजेपी के खाते में 32 तो कांग्रेस के खाते में 33 सीटें जाती हुई नजर आ रही हैं। ऐसी स्थिति में अभी कुछ भी टिप्पणी करना उचित नहीं रहेगा।  उधर, कांग्रेस बीजेपी के अलावा अन्य दलों ने मात्र तीनों सीटों पर जीत का पताका फहराया है और आम आदमी पार्टी की दुर्गति का अंदाजा लगा सकते हैं कि आप मात्र का प्रदेश में सफाया हो चुका है। ऐसी स्थिति में अब  सूबे का राजनीतिक परिदृश्य क्या रुख अख्तियार करता है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।

BJP Congress

लेकिन, यहां गौर करने वाली है कि ऐसी स्थिति में जब प्रदेश में शुरू से ही कांग्रेस-बीजेपी पांच-पांच साल की रवायत रही है। ऐसी सूरत में अगर दोनों ही दलों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है, तो यकीनन यह स्थिति बीजेपी के लिए राहत के साथ-साथ कांग्रेस के लिए चिंता के साथ-साथ चिंतन का भी विषय है। जिस पर कांग्रेस नेताओं को आत्मचिंतन करना होगा। बहरहाल, अब हिमाचल प्रदेश के अंतिम नतीजे क्या रहते हैं। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। तब तक के लिए आप चुनाव से जुड़ी हर बड़ी खबर से रूबरू होने के लिए पढ़ते रहिए। न्यूज रूम पोस्ट.कॉम

Latest