Video: तिरंगे को लेकर महबूबा मुफ्ती के बयान पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने PDP दफ्तर जाकर किया ये ‘काम’

Mehbooba Mufti: महबूबा मुफ्ती ने भारत(India) के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे को लेकर कहा था कि, “जिस वक्त हमारा ये झंडा वापस आएगा, हम उस (तिरंगा) झंडे को भी उठा लेंगे। मगर जब तक हमारा अपना झंडा, जिसे डाकुओं ने डाके में ले लिया है, तब तक हम किसी और झंडे को हाथ में नहीं उठाएंगे।

Avatar Written by: October 26, 2020 12:46 pm
Mehbooba Mufti PDP office

नई दिल्ली। बीते शुक्रवार को जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा अनुच्छेद 370 के खात्मे के बाद अपनी बौखलाहट में तिरंगे को लेकर एक विवादित बयान दिया था। जिसको लेकर अब भारतीय जनता पार्टी लगातार महबूबा मुप्ती पर पलटवार कर रही है। वहीं जम्मू कश्मीर में इसको लेकर भाजपा प्रदर्शन भी कर रही है। बत दें कि महबूबा मुफ्ती ने भारत के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे को लेकर कहा था कि, “जिस वक्त हमारा ये झंडा वापस आएगा, हम उस (तिरंगा) झंडे को भी उठा लेंगे। मगर जब तक हमारा अपना झंडा, जिसे डाकुओं ने डाके में ले लिया है, तब तक हम किसी और झंडे को हाथ में नहीं उठाएंगे। वो झंडा हमारे आईन का हिस्सा है, हमारा झंडा तो ये है। उस झंडे से हमारा रिश्ता इस झंडे ने बनाया है।” इस बयान को लेकर महबूबा मुफ्ती की काफी आलोचना भी हो रही है। अब सोमवार को कुपवाड़ा के बीजेपी कार्यकर्ताओं ने श्रीनगर के मशहूर लाल चौक पहुंचे और तिरंगा फहराने की कोशिश की।

Mahbooba Mufti Flag JK

इसके अलावा जम्मू में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अच्छी संख्या में पीडीपी कार्यालय पहुंच गए और वहां महबूबा मुफ्ती के बयान पर अपना विरोध जताया और प्रदर्शन किया। इसके अलावा कार्यकर्ताओं ने दफ्तर पर तिरंगा फहराया और भारत माता की जय के नारे लगाए। इसके पहले  रविवार को भी एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने जम्मू में पीडीपी के कार्यालय के बाहर नारेबाजी की थी। पीडीपी के दफ्तर के बाहर तिरंगा फहराया गया, नारेबाजी की गई।

वहीं 434 दिन बाद रिहा हुई जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अब 370 की बहाली को लेकर एक बड़ा ऐलान कर दिया जो उनके राजनीतिक जीवन से जुड़ा हुआ है। बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि, आज बिहार में वोट बैंक के लिए पीएम मोदी को अनुच्छेद 370 का सहारा लेना पड़ रहा है। जब वे चीजों पर विफल होते हैं तो वे कश्मीर और 370 जैसे मुद्दों को उठाते हैं। वास्तविक मुद्दे पर बात नहीं करना चाहते हैं।

mahbooba mufti

उन्होंने खुद के चुनाव में भाग लेने को लेकर कहा कि, जब तक वह (केंद्र सरकार) हमारे हक (370) को वापस नहीं करते हैं, तब तक मुझे कोई भी चुनाव लड़ने में दिलचस्पी नहीं है। 370 को वापस लागू करने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि, जम्मू-कश्मीर में 370 को बहाल करने तक मेरा संघर्ष खत्म नहीं होगा।