कपिल सिब्बल ने कांग्रेस नेतृत्व पर उठाए सवाल, सोनिया और राहुल पर बोला हमला, कह दी ये बड़ी बात

Kapil Sibal raises questions on Congress leadership: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में मिली हार के बाद से ही महागठबंधन के घटक दलों के बीच तकरार लगातार बढ़ता  जा रहा है। एक तरफ जहां आरजेडी इस हार के लिए सीधे-सीधे कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रही है।

Written by: November 16, 2020 10:45 am

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में मिली हार के बाद से ही महागठबंधन के घटक दलों के बीच तकरार लगातार बढ़ता  ही जा रहा है। एक तरफ जहां आरजेडी इस हार के लिए सीधे-सीधे कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रही है। वहीं दूसरी ओर चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर पार्टी के अंदर ही आपसी मतभेद देखने को मिल रहे है। एक के बाद एक लगातार कांग्रेस के नेताओं में आपसी फूट देखने को मिल रही है। तारिक अनवर के बाद अब पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने बिहार चुनाव में खराब प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया सामने आई है। इतना ही नहीं कपिल सिब्बल ने पार्टी के लीडरशीप को लेकर भी सवाल उठाए है। साथ ही  उन्होंने कांग्रेस को आत्ममंथन करने की भी सलाह दे डाली। उनके इस बयान के बाद अब पार्टी के अंदर सियासी घमासान मच सकता है। आपको बता दें कि बिहार के साथ मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, गुजरात समेत कई राज्यों में हुए चुनावों में कांग्रेस को करारी शिकस्त मिली है।

kapil sibbal

कांग्रेस नेता सिब्बल ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा कि बिहार के चुनावों और दूसरे राज्यों के उप-चुनावों में कांग्रेस की परफॉर्मेंस पर अब तक टॉप लीडरशिप की राय तक सामने नहीं आई है। उन्होंने पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए कहा कि शायद उन्हें सब ठीक लग रहा है और इसे सामान्य घटना माना जा रहा है। मेरे पास सिर्फ लीडरशिप के आस-पास के लोगों की आवाज पहुंचती है। मुझे सिर्फ इतना ही पता होता है। हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब लगातार चुनावों में मिल रही शिकस्त की वजह से पार्टी के अंदर से बगावत के सुर पहले से सुने जा सकते हैं। इससे पहले भी पार्टी के कई बड़े नेता चुनाव में खराब प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस पर सवाल उठा चुके है। हाल ही में महागठबंधन की सरकार नहीं बनने पर पार्टी के बड़े नेता तारिक अनवर (Tariq Anwar) ने इसके लिए कांग्रेस को जिम्मेवार माना।

कपिल सिब्बल ने आगे कहा कि पार्टी ने 6 सालों में आत्ममंथन नहीं किया तो अब इसकी उम्मीद कैसे कर सकते हैं? हमें कमजोरियां पता हैं, यह भी जानते हैं संगठन के स्तर पर क्या समस्या है। शायद समाधान भी सबको पता है, लेकिन इसे अपनाना नहीं चाहते। अगर यही हाल रहा तो पार्टी को नुकसान होता रहेगा। कांग्रेस की दुर्दशा से सबको चिंता है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) के मेंबर नॉमिनेटेड हैं। CWC को पार्टी के कॉन्स्टीट्यूशन के मुताबिक डेमोक्रेटिक बनाना होगा। आप नॉमिनेटेड सदस्यों से यह सवाल उठाने की उम्मीद नहीं कर सकते कि आखिर पार्टी हर चुनाव में कमजोर क्यों हो रही है?

बता दें कि बिहार चुनाव में महागठबंधन के हार की मुख्य वजह कांग्रेस का खराब प्रदर्शन ही है जिसकी वजह से महागठबंधन बहुमत के आंकड़े से पीछे रह गई। महागठबंधन की तरफ से कांग्रेस ने इस बार 70 सीटों पर चुनाव लड़ा था लेकिन वह 19 सीट ही जीत पाई।

Support Newsroompost
Support Newsroompost