बिहार की मजदूर महिला को ट्रेन में हुई प्रसव पीड़ा, यूं दुनिया में आई फूल सी गुड़िया

अन्य राज्यों से प्रवासी श्रमिकों का बिहार आने का सिलसिला जारी है। इस बीच श्रमिकों के परेशानियों से जूझने की खबर आती रहती हैं लेकिन गुरुवार को शेखपुरा से एक राहत वाली खबर आई जब श्रमिक एक्सप्रेस से यात्रा कर रही एक गर्भवती महिला ने बच्ची को जन्म दिया।

Avatar Written by: May 28, 2020 12:42 pm

शेखपुरा। अन्य राज्यों से प्रवासी श्रमिकों का बिहार आने का सिलसिला जारी है। इस बीच श्रमिकों के परेशानियों से जूझने की खबर आती रहती हैं लेकिन गुरुवार को शेखपुरा से एक राहत वाली खबर आई जब श्रमिक एक्सप्रेस से यात्रा कर रही एक गर्भवती महिला ने बच्ची को जन्म दिया।

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि आशा कुमारी नामक एक महिला अपने पति कृष्ण कुमार के साथ श्रमिक स्पेशल ट्रेन के एस-7 में यात्रा कर रही थी। इस दौरान उसे गया क्यूल रेल खंड के सिरारी रेलवे स्टेशन के पास प्रसव पीड़ा हुई। इसकी सूचना शेखपुरा जिला प्रशासन को दी गई। सूचना मिलने के बाद दंपति को सिरारी हॉल्ट के पास उतार लिया गया और प्रसव पीड़ा से परेशान महिला को शेखपुरा के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रशासन के सहयोग के बीच इस महिला ने सुरक्षित तरीके से गुरुवार की सुबह 7.30 में एक फूल सी बच्ची को जन्म दिया। जिस महिला को प्रसव पीड़ा हुई थी वह श्रमिक स्पेशल ट्रेन नंबर 04610 के एस-7 कोच में यात्रा कर रही थी।


शेखपुरा स्वस्थ्य विभाग के जिला कार्यक्रम प्रबंधक श्याम कुमार ने बताया कि महिला को बुधवार की रात करीब 12 बजे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां गुरुवार की सुबह महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया। उन्होंने बताया कि जच्चा और बच्चा पूरी तरह सुरक्षित हैं।


कृष्ण कुमार लुधियाना में कपड़ा काटने का काम करते थे। लॉकडाउन में फंसे होने के बाद वे श्रमिक एक्सप्रेस से अपनी पत्नी के साथ अपने गांव भागलपुर जिले के सनौखर बाजार जा रहे थे। कृष्ण कुमार बेटी के जन्म से बहुत खुश हैं। उन्होंने प्रशासन से घर पहुंचाने की गुहार लगाई है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में आ रही मजदूरों की भारी संख्या के बीच ये खबर बेहद ही सुकून देने वाली है।