Lucknow में सीएम योगी ने किया भारत के सबसे बड़े कैंसर संस्थान में OPD सेवा का शुभारंभ, संग मिली दो नए फ्लाईओवर की सौगात

Super Specialty Cancer Institute : इस मौके पर देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह(Rajnath Singh) भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जुड़े रहे। इसको लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि, “लखनऊ में 54 बेड वाले सुपर स्पेशियलिटी कैंसर इंस्टीट्यूट एवं हॉस्पिटल(Super Specialty Cancer Institute) का उद्घाटन हो रहा है, भविष्य में इसी क्षमता को 1250 बेड तक बढ़ाया जाएगा।

Avatar Written by: October 20, 2020 8:28 pm
Cancer Hospital

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने मंगलवार को राज्य की राजधानी में सुपर स्पेशलिटी कैंसर इंस्टीट्यूट (SSCI) में ओपीडी सेवा का शुभारंभ किया। इस सेवा के शुरू हो जाने के बाद यह देश का सबसे बड़ा कैंसर केंद्र होगा। बता दें कि सीएम योगी ने OPD ब्लॉक का लोकार्पण तथा आवासीय परिसर के शिलान्यास के साथ ही 2 सेतुओं का वर्चुअल लोकार्पण भी किया। सेतु निगम के द्वारा बनाया जा रहे दोनों फ्लाईओवर से हुसैनगंज से बासमण्डी, नाका, राजेंद्र नगर, ऐशबाग समेत 17 इलाकों के लोगों को जाम से छुटकारा मिलेगा। यह शहर का सबसे ज्यादा पॉश इलाके में आते हैं। इस मौके पर देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जुड़े रहे। इसको लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि, “लखनऊ में 54 बेड वाले सुपर स्पेशियलिटी कैंसर इंस्टीट्यूट एवं हॉस्पिटल का उद्घाटन हो रहा है, भविष्य में इसी क्षमता को 1250 बेड तक बढ़ाया जाएगा। ये बहुत बड़ी बात है। जनता की आकांक्षाओं को मुख्यमंत्री जी आपने पूरा किया है, इसके लिए मैं आपको बधाई देता हूं।”

Rajnath Singh UP Hospital

वहीं इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि, “उत्तर प्रदेश ने प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में सबसे बड़े राज्य होने के बावजूद बेहतर करने का प्रयास किया। आज प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट 2% से नीचे है, रिकवरी रेट 92% से ज्यादा है। सीएम योगी ने राज्य में कोरोना की स्थिति और पीएम मोदी द्वारा दिए गए संदेश को लेकर कहा कि, “जैसा प्रधानमंत्री जी ने राष्ट्र संबोधन में कहा जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं।”

बता दें कि लखनऊ में स्थापित यह आधुनिक कैंसर संस्थान मुम्बई के प्रसिद्ध टाटा मेमोरियल सेंटर की तर्ज पर टाटा ट्रस्ट के सहयोग से स्थापित है। मंगलवार को रक्षामंत्री और लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीजी सिटी, सुल्तानपुर रोड पर स्थापित इस नवीन कैंसर इंस्टिट्यूट के सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी एवं अन्तःरोगी सेवाओं का शुभारंभ किया, साथ ही ओ.पी.डी. ब्लॉक की भी शुरुआत की। इसके अलावा इसके आवासीय परिसर का शिलान्यास भी किया गया। वहीं रक्षामंत्री और मुख्यमंत्री ने लखनऊ वासियों को जाम की समस्या से निजात दिलाने वाले दो फ्लाईओवर का तोहफे भी दिए।133 करोड़ की लागत से 1528 मीटर लम्बे हुसैनगंज चौराहा-बासमंडी चौराहा-नाका हिन्डोला चौराहा डी.ए.वी. कॉलेज के मध्य तीन लेन फ्लाईओवर और 64.47 करोड़ रुपये की लागत से 908 मीटर लंबे हैदरगंज तिराहा से मीना बेकरी से पूर्व तक निर्मित दो लेन नवलोकर्पित फ्लाईओवर राजधानी लखनऊ की ट्रैफिक जाम की समस्या के लिए बड़ा हल सिद्ध होगी।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने लखनऊ के सांसद के तौर पर केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के विकास के प्रति समर्पण और आवश्यक मार्गदर्शन के लिए धन्यवाद भी दिया। उन्होंने कहा कि लखनऊ को मेट्रो के उपहार के साथ-साथ रिंग रोड और शहीद पथ की परिकल्पना राजनाथ सिंह जी के विजन का ही प्रमाण है। शहीद पथ तो आज लखनऊ की लाइफलाइन बन गई है।

राजनाथ सिंह ने दी सीएम योगी को ‘कर्मयोगी’ की संज्ञा

वहीं राजनाथ सिंह ने सीएम योगी को ‘कर्मयोगी’ की संज्ञा देते हुए लखनऊ सहित पूरे प्रदेश के विकास के समन्वित प्रयास के लिए मुख्यमंत्री की तारीफ की। लखनऊ के सांसद के तौर पर नवलोकर्पित कैंसर इंस्टिट्यूट और दो नए उपरिगामी सेतुओं के लिए लखनऊ सहित पूरे प्रदेश को बधाई देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा की लखनऊ को मेट्रोपोलिटन शहर के रूप में विकसित किये जाने के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास की बड़ी आवश्यकता है। पिछले तीन वर्षों में जिस तरह कई नए फ्लाईओवर तैयार हुए हैं, उनसे शहर के विकास को तेजी मिली है।राजनाथ सिंह ने लखनऊ स्मार्ट सिटी से सम्बंधित परियोजनाओं को प्राथमिकता के साथ किये जाने पर प्रसन्नता जाहिर की। साथ ही भरोसा दिया कि केंद्र सरकार के स्तर से आवश्यक मदद मुहैया कराने के लिए उनकी ओर से प्रयासों में कोई कमी नहीं होगी।

UP Hospital Cancer

सीएम योगी ने एक ट्वीट में कहा कि, “आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के संदेश “जब तक दवाई नहीं,तब तक ढिलाई नहीं” को हम सभी को इस वैश्विक महामारी के समय में जीवन का मूल मंत्र मानना होगा। त्योहारों का समय है, खुशियां मनाएं लेकिन भूलें नहीं कि ‘दो गज की दूरी और मास्क है जरूरी’। अपना और परिजनों का ख्याल रखें।”

वहीं सुपर स्पेशलिटी कैंसर इंस्टीट्यूट की बात करें तो 1,250 बेडों के साथ यह राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (झज्जर, हरियाणा) से भी बड़ा होगा, जहां 700 बेड हैं। यह आकार में मुंबई के टाटा मेमोरियल इंस्टीट्यूट से दोगुना होगा, जहां करीबन 650 बेड हैं और साथ ही यह दिल्ली के राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट से चार गुना बड़ा होगा।

सुपर स्पेशलिटी कैंसर इंस्टीट्यूट की जानकारी

— संस्थान का कुल प्लाट क्षेत्र लगभग 77 एकड़ है।

— संस्थान के लिए स्वीकृत कुल प्रोजेक्ट व्यय 805.28 करोड़ एवं आवासीय ब्लाक के लिए स्वीकृत प्रोजेक्ट व्यय 30.75 करोड़ है।

— 30 शैया की आईपीडी, रेडियेशन आन्कोलोजी एंव डे-केयर सेवाआों को आरंभ करने हेतु 01 ऑपरेशन थियेटर, लाइनर एक्सीलेटर एवं सीटी स्कैन के साथ-साथ 54 बेड की सुविधा तत्काल, आरंभ किये जाने हेतु आवश्यक व्यवस्था कर ली गई है।

lucknow cancer hospital

— वर्तमान में स्थान विभिन्न विशिष्टताओं एवं संकाय सदस्यों के साथ क्रियाशील किया जा रहा है। ये विशिष्टताएं क्रमशः रेडियेशन ऑन्कोलॉजी (02), सर्जरीकल ऑन्कोलोजी (02), केडिकल ऑन्कोलोजी (01), गुइनेकोलोजिकल ऑन्कोलोजी (02), न्यूरोसर्जरी (02), प्लास्टिक सर्जरी (01), एनिस्थेशियोलॉजी (03), क्रिटिकल केयर मेडिसिन (01), हास्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन (0), जनरल मेडिशिन (01), पेडियाट्रिक ऑन्कोलोजी (01), आथ्रोपेडिक्स (01), पैथोलॉजी (02), माइक्रोबायोलाजी (01), इमयूनो हेमोजेलाजी बल्ड ट्रान्सफशन (01), डेन्टिस्ट्री (01), पब्लिक हेल्थ (01), ईएनटी (01), रेडियोलॉजी हैं।

— अस्पताल को सुचारू रूप से चलाने के लिए आवश्यक उपकरणों एवं फर्नीचर का क्रय किया जा चुका है।

— आधुनिक Linear Accelerator, CT scanner, Mobile X-ray इत्यादि का क्रय किया जा चुका है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost