कोरोना के मामले में विलेन साबित हुए महाराष्ट्र और केरल, वरना जीत चुके होते ये लड़ाई

पंजाब में इस दौरान 46 कोरोना पाजिटिव सामने आए। केरल में ये संख्या 116 रही। यहां 40 वें दिन के बाद ये मामले तेजी से बढ़े। ये वे राज्य हैं जिन्होंने कोरोना पर लगाम लगाने में बेहद ढीला रवैय्या अख्तियार किया।  

Avatar Written by: April 12, 2020 3:55 pm

नई दिल्ली। कोरोना के मामले में महाराष्ट्र और केरल की परफार्मेंस सबसे बुरी रही है। इन दोनों ही राज्यों ने कोरोना को रोकने में बेहद ही लचर काम किया। इन दो राज्यों से देश भर में सबसे अधिक कोरोना के कंफर्म मामले सामने आए हैं।

Coronavirus

आंकड़ों के मुताबिक भारत में 10 राज्य देश भर के 80 फीसदी कोरोना मामलों की जड़ हैं। इनमें तीन राज्यों में सबसे तेजी से कोरोना ने पैर पसारे हैं। ये राज्य महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक हैं। पंजाब भी इसी कड़ी का हिस्सा है। सिर्फ शुरुआती 17 दिनों के भीतर महाराष्ट्र में कोरोना के मामले 105 तक पहुंच गए। इन्हीं 17 दिनों में कर्नाटक में ये संख्या 43 थी।

 

पंजाब में इस दौरान 46 कोरोना पाजिटिव सामने आए। केरल में ये संख्या 116 रही। यहां 40 वें दिन के बाद ये मामले तेजी से बढ़े। ये वे राज्य हैं जिन्होंने कोरोना पर लगाम लगाने में बेहद ढीला रवैय्या अख्तियार किया।