कश्मीर : लाल चौक पहुंचे केंद्रीय मंत्री नकवी ने दुकानदार से पूछा- ‘कैसा चल रहा है’, जिसपर जवाब मिला कुछ ऐसा

नकवी जब लाल चौक पर पहुंचे तो उन्हें वहां देख लोग हैरान रह गए और अपनी प्रतिक्रिया देने लगे। नकवी को लाल चौक में देखकर एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा कि ‘यह तो मुख्तार अब्बास नकवी है। यह यहां कैसे?’

Written by: January 22, 2020 3:00 pm

नई दिल्ली। मोदी सरकार में केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बुधवार को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर पंहुचे। वहां उन्होंने घाटी के लोगों से मुलाकात की और उनका हालचाल जाना। नकवी ने घाटी के प्रसिद्ध लाल चौक का दौरा भी किया। केंद्रीय मंत्री ने वहां के स्थानीय दुकानदारों से भी बात की।

Mukhtar Abbas Naqvi

नकवी जब लाल चौक पर पहुंचे तो उन्हें वहां देख लोग हैरान रह गए और अपनी प्रतिक्रिया देने लगे। नकवी को लाल चौक में देखकर एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा कि ‘यह तो मुख्तार अब्बास नकवी है। यह यहां कैसे?’ तभी उसी के पास खड़े एक व्यकित ने कहा कि, आजकल यहां अमन और खुशहाली का पैगाम लेकर मंत्री आ रहे हैं।

mukhtar abbas Nakavi

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ने जब वहां अपना सामान सजा रहे एक दुकानदार युसुफ के कंधे पर हाथ रखते हुए पूछा कि कहो..कैसा चल रहा है। तो पहले युसुफ थोड़ा सहम गया, फिर जवाब में कहा कि, अब धंधा चलने लगा है। नकवी ने और भी स्थानीय दुकानदारों से बातचीत की, वहां मौजूद कुछ खरीददारों ने भी उनसे सवाल किए। नकवी ने सभी को यकीन दिलाते हुए कहा कि शांति और विकास का दौर शुरु हो चुका है। यकीन रखिए-यहां सब बहुत अच्छा है, माहौल में एक सकारात्मक बदलाव है। हम यहां सकारात्मक बदलाव के लिए ही काम कर रहे हैं।

वीडियो-

अपने दौरे पर मीडिया से बात करते हुए नकवी ने कहा कि कश्मीर घाटी में हालात पूरी तरह से सामान्य हैं और केंद्र ने प्रदेश के विकास के लिए व्यापक स्तर पर योजनाएं बनाई हैं। जल्द ही प्रदेश में बड़ा बदलाव नजर आएगा। उन्होंने कहा कि, घाटी में सकारात्मक माहौल बना हुआ है और हम सभी लगातार यहां के लोगों से बात कर रहे हैं। हम यहां पर विकास और परिवर्तन का एक सुखद माहौल तैयार करना चाहते हैं।

mukhtar abbas Nakavi lal chowk

अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने कश्मीर के अपने अनुभवों को सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी साझा किया। उन्होंने फेसबुक पोस्ट पर लिखा, “रास्ते में जाते वक्त पूरी तरह बर्फ से ढकी सड़कों को स्थानीय नागरिकों के साथ मिल कर साफ़ किया। 370 के खात्मे के बाद जम्मू-कश्मीर के 24 हजार युवाओं को रोजगार प्रदान किया गया है। सांबा तथा अबंतीपोरा में दो एम्स की स्थापना की जा रही है। पांच नए मेडिकल कॉलेज शुरू किए गए हैं और इनमें सीटों की संख्या बढ़ाकर 500 कर दी गई है। विभिन्न पेंशन योजनाओं का लाभ लगभग 7 लाख 50 हजार लोगों को मिला है। आयुष्मान भारत योजना के तहत लगभग 15 लाख लोगों को इसके दायरे में लाया गया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत 8 लाख 20 हजार किसानों को लाभ प्रदान किया गया है। जन धन योजना का लाभ 23 लाख 26 हजार जरूरतमंदों को पहुंचाया गया है। लगभग 1 लाख 50 हजार से ज्यादा छात्र-छात्राओं को विभिन्न स्कॉलरशिप्स दी गई हैं।”

Mukhtar Abbasi Nakqi

नकवी अपनी यात्रा के दौरान डल झील भी पहुंचे, इसके अलावा वो श्रीनगर के हरवान ब्लॉक के फकीर गुजरी गांव में पहुंचे और लोगों से मुलाकात की। उन्होंने मालरू पुल और फारेस्ट प्रोटेक्शन फोर्स मुख्यालय के ऑफिस काम्प्लेक्स का उद्घाटन, दारा, श्रीनगर में हाई स्कूल का शिलान्यास भी किया।