सियासी भूचाल की ओर फिर बढ़ चला महाराष्ट्र, खतरे में उद्धव सरकार ? भाजपा करेगी प्रेस कांफ्रेंस

कोरोना संकटकाल के बीच एक बार फिर महाराष्ट्र में सियासत गर्म है। महाराष्ट्र में एक बार फिर राजनीतिक ड्रामा शुरू हो गया है।

Written by: May 26, 2020 2:35 pm

मुंबई। कोरोना संकटकाल के बीच एक बार फिर महाराष्ट्र में सियासत गर्म है। महाराष्ट्र में एक बार फिर राजनीतिक ड्रामा शुरू हो गया है। बीजेपी के नेता नारायण राणे ने कहा है कि उद्धव सरकार कोरोना संकट को संभाल पाने में पूरी तरह नाकाम है। बीजेपी ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

इस बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की है। जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस आज शाम 4 बजे प्रेस कान्फ्रेंस करेंगे।

Devendra Fadnavis

 

उधर, राष्ट्रपति शासन की बातों को अफवाह करार देते हुए शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि भाजपा अगर राष्ट्रपति शासन की बात कह रही है तो मैंने ये उनके किसी बड़े नेता के मुंह से नहीं सुना। मैंने देवेंद्र फडणवीस, गृह मंत्री अमित शाह और नितिन गडकरी को ये कहते हुए नहीं सुना है। ऐसे में मैं इस पर कैसे विश्वास कर लूं।

उन्होंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से शरद पवार मुलाकात करते हैं तो इसमें वजह की बात क्या है? राज्य चलाने वाले दो प्रमुख नेता अगर आपस में बैठकर राज्य पर चर्चा करते हैं तो मुझे लगता है इसमें किसी को तकलीफ होने जैसी कोई बात नहीं है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को राज्य में 2436 नए कोरोना संक्रमित सामने आए। जबकि 60 संक्रमितों की मौत हो गई। इसमें से 38 मरीजों की मौत मुंबई में हुई है। इससे राज्य में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1695 हो गई है।

सूबे में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 52, 667 हो गई जिसमें से 35,178 ऐक्टिव मरीज बताए गए हैं। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि एक दिन में 15, 786 कोरोना संक्रमित स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए हैं। जिसमें से सर्वाधिक मरीज मुंबई के हैं।