अर्थव्यवस्था में और नकदी की जरूरत है : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इससे केंद्र सरकार द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के पैकेज सहित 50 लाख करोड़ रुपये की तरलता बाजार में आएगी जिससे अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 की वजह पड़े विपरीत असर का मुकाबला करने में मदद मिलेगी।

Written by: May 27, 2020 10:00 am

नई दिल्ली। मोदी सरकार में सड़क परिवहन, राजमार्ग एवं सूक्ष्म-मध्यम-लघु उद्योग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस से चरमराई देश की अर्थवस्था को मजबूती और गति देने के लिए बाजार में और नकदी डालने की जरूरत है। गडकरी ने कहा कि, राज्य सरकारों को 20 लाख करोड़ रुपये मुहैया कराने चाहिए जबकि और 10 लाख करोड़ रुपये सार्वजनिक-निजी साझेदारी के निवेश से आ सकते हैं।

nitin-gadkari

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इससे केंद्र सरकार द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के पैकेज सहित 50 लाख करोड़ रुपये की तरलता बाजार में आएगी जिससे अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 की वजह पड़े विपरीत असर का मुकाबला करने में मदद मिलेगी।

Indian Economy

कोरोना काल में देश में बने मौजूदा हाल को लेकर उन्होंने कहा, ‘मौजूदा परिस्थितियां बहुत गंभीर है…पूरी दुनिया मुश्किल का सामना कर रही है।’ मंत्री ने रेखांकित किया कि संकट से मुकाबले के लिए अमेरिका ने दो ट्रिलियन डॉलर के पैकेज की घोषणा की है जबकि जापान ने अपने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 12 प्रतिशत के बराबर पैकेज की घोषणा की है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित पैकेज जीडीपी के 10 प्रतिशत के बराबर है।

nitin gadkari

गडकरी ने कहा, ‘कोविड-19 से प्रभावित अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए अब और अधिक संसाधन जुटाये जा सकते हैं और राज्य और 20 लाख करोड़ रुपये का बजट मुहैया करा सकते हैं और न्यूनतम 10 लाख करोड़ रुपये सार्वजनिक निजी निवेश से आ सकते हैं। इससे अर्थव्यवस्था में 50 लाख करोड़ रुपये आने से अर्थव्यवस्था को गति मिलेगी।’