Farmers Protest: किसानों ने किया 8 दिसंबर को ‘भारत बंद’ का ऐलान, देशभर में फूंकेंगे पीएम मोदी का पुतला

Bharat Bandh: दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर से किसान नेता राकेश टिकैत(Rakesh Tikait) ने कहा कि, “8 तारीख को पूरा भारत बंद रहेगा। इस बार 26 जनवरी की परेड में किसानों के पूरे सिस्टम को शामिल किया जाए।

Avatar Written by: December 4, 2020 7:20 pm
FARMER PROTEST

नई दिल्ली। कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली में चल रहा किसानों का प्रदर्शन अब भारत बंद तक जा पहुंचा है। बता दें कि बीते 9 दिनों से अपनी मांगों को लेकर दिल्ली बॉर्डर (Delhi Border) पर बैठे पंजाब और हरियाणा (Punjab And Haryana) के किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान कर दिया है। किसानों ने सरकार से साफ कर दिया है कि, कृषि कानूनों को वापस लिया जाए और नए कानून बनाए जाएं। किसानों को लेकर पास किए गए तीनों कानून किसी भी सूरत में मान्य नहीं हैं। इसको लेकर शुक्रवार को किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikat) ने कहा कि तीनों कृषि कानूनों के विरोध में 8 दिसंबर को एक दिवसीय भारत बंद का आह्वान किया गया है। किसानों का कहना है कि पूरे देशभर में इस दौरान विरोध में पीएम मोदी का पुतला जलाया जाएगा। वहीं संयुक्त किसान मोर्चा के हरिंदर सिंह लखोवाल (Harinder Singh Lakhowal) का कहना है कि अगर सरकार ने 5 दिसंबर की बैठक में हमारी बातें नहीं मानती है तो हम 8 दिसंबर को भारत बंद करेंगे।

farmer protest

कानून वापस करा कर ही खत्म होगा धरना

लखोवाल ने कहा कि दिल्ली आने के लिए देशभर का किसान तैयार हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब के सभी किसानों के साथ देशभर के किसानों की मींटिग हुई है। जिसमें यह तय हुआ है कि अगर हमारी मांगें नहीं मानी गईं तो भारत बंद करेंगे। उन्होंने कहा कि हम इस धरने को कानून को वापस करा कर ही खत्म करेंगे।

Farmers Protest

भारत बंद को लेकर यह है प्लान

वहीं भारत बंद को लेकर लखोवाल ने कहा कि 5 दिसंबर को सरकार के पुतले फूंके जाएंगे। लेकिन उससे पहले 7 तारीख को मेडल वापस किए जाएंगे। 8 तारीख को पूरा देश बंद करने का प्लान है। उन्होंने कहा भारत बंद के दौरान सभी नाके बंद किए जाएंगे। यह हमारी लंबी लड़ाई है। सरकार विधानसभा सत्र बुलाए और इन कानूनों को रद्द करे। लखोवाल ने कहा कि, मोदी सरकार द्वारा पास किए गए कानून हमारे लिए कोरोना से भी गंभीर बीमारी हैं।

बता दें कि दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर से किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि, “8 तारीख को पूरा भारत बंद रहेगा। इस बार 26 जनवरी की परेड में किसानों के पूरे सिस्टम को शामिल किया जाए। ट्रैक्टर हमेशा उबड़-खाबड़ ज़मीन पर ही चला है उसे भी राजपथ की मखमली सड़क पर चलने का मौका मिलना चाहिए।”

वहीं सिंघु बॉर्डर से भारतीय किसान यूनियन के जनरल सेक्रेटरी ने कहा कि, “5 दिसंबर को मोदी सरकार और कॉर्पोरेट घरानों के पुतले पूरे देश में फूंके जाएंगे। 7 तारीख को सभी वीर अपने मेडलों को वापिस करेंगे। 8 तारीख को हमने भारत बंद का आह्वान किया है व एक दिन के लिए सभी टोल प्लाज़ा फ्री कर दिए जाएंगे।”