पीएम मोदी की अपील पर शेहला राशिद और चिदंबरम ने देखिए क्या कहा, जानकर चौंक जाएंगे आप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया में महामारी बन चुके कोरोनावायरस पर गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में जहां देशवासियों को इसके खतरों से आगाह किया, वहीं बचने के लिए तमाम अहम सुझाव दिए।

Avatar Written by: March 20, 2020 11:23 am

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया में महामारी बन चुके कोरोनावायरस पर गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में जहां देशवासियों को इसके खतरों से आगाह किया, वहीं बचने के लिए तमाम अहम सुझाव दिए। कोरोना की चुनौतियों से निपटने के लिए देशवासियों से एकजुट रहने की प्रधानमंत्री मोदी की अपील को विपक्षियों और आलोचकों का भी साथ मिल रहा है।

PM Modi corona live

एक तरफ विपक्षी दल कांग्रेस ने सरकार के सभी प्रयासों को समर्थन देने की बात कही तो दूसरी तरफ जेएनयू छात्र संघ की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद ने भी पीएम मोदी की अपील की सराहना की है। मोदी सरकार की कठोर आलोचक शेहला राशिद ने प्रधानमंत्री की अपील के साथ एकजुटता जताई।

p chidambaram

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘लोगों को घरों में रहने और घर से काम करने के प्रति प्रोत्साहन के लोकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्पष्ट संदेश की सराहना करती हूं। सभी एंप्लॉयर्स से पेड लीव देने की उनकी अपील का भी समर्थन करती हूं। उन्होंने लोगों से घबराहट में आकर नहीं खरीदने और न ही जमाखोरी करने को कहा है। सभी से अपील है कि एकजुट रहें और सरकार के निर्देशों को पालन करें।’

कोरोनावायरस पर राष्ट्र के नाम प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन का हवाला देते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा कि प्रधानमंत्री का समर्थन करना उनका कर्तव्य है। उन्होंने ट्वीट किया है, ‘प्रधानमंत्री का समर्थन करना मेरा कर्तव्य है। प्रधानमंत्री ने जनता से नैतिक हथियारों के जरिए कोरोना वायरस से लड़ने को कहा है। हमें रविवार को और आने वाले दिनों में ऐसा ही करना चाहिए।’ उन्होंने लिखा है, ‘मुझे ऐसा लग रहा है कि प्रधानमंत्री अगले कुछ दिनों में कठोर सामाजिक और आर्थिक कदमों की घोषणा करेंगे।’

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोनावायरस के बचाव को लेकर गुरुवार को कहा कि रविवार 22 मार्च को सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक ‘जनता कर्फ्यू’ लागू होगा। सभी देशवासियों को जनता कर्फ्यू का पालन करना होगा। सभी से अपील है कि कोई भी जनता कर्फ्यू के समय घरों से बाहर न निकले। मैं सभी राज्य सरकारों से अपील करता हूं कि वो इस कर्फ्यू का पालन कराएं।