Connect with us

देश

Gujarat Elections: दूसरे दौर की वोटिंग से पहले PM मोदी ने लिया मां का आशीर्वाद, सामने आई पहली तस्वीरें

Published

नई दिल्ली। गुजरात में विधानसभा चुनाव को लेकर जारी प्रचार-प्रसार थम चुका है। नेताओं की आमद से गुलजार रहने वाली गलियां अब वीरान हो चुकी हैं। चर्चागोशियों से खिलखिलाने वाली जुबां अब अब कल यानी दूसरे चरण के चुनाव के इंतजार में खामोश हो चुकी हैं। प्रदेश में पहले चरण के चुनाव हो चुके हैं। दूसरे चरण के चुनाव आगामी पांच दिसंबर को होंगे और नतीजों की घोषणा आगामी आठ दिसंबर को होगी। बता दें, चुनाव प्रचार में सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। चुनाव प्रचार में किसी ने किसी की उपलब्धियों का बखान किया तो किसी ने अपने प्रतिद्वंदियों की खामियां गिनाई। अब ऐसी स्थिति में कौन किस पर भारी पड़ता है। यह तो फिलहाल आने वाला वक्त ही बताएगा। लेकिन, उससे पहले गुजरात के दूसरे चरण चुनाव से पहले बड़ी खबर प्रकाश में आई है। आइए, आगे आपको इसके बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।


आपको बता दें कि गुजरात के दूसरे चरण के चुनाव से पहले पीएम मोदी अहमदाबाद पहुंचे। पीएम मोदी वोट डालने पहुंचे अहमदाबाद पहुंचे हैं। इस बीच अपनी मां हीराबेन से भी मुखातिब हुए।

आमतौर पर जब भी वे गुजरात जाते हैं, तो अपनी मां से जरूर भेंट करते हैं। हालांकि, विगत दिनों भी उनका गुजरात जाना हुआ था, लेकिन चुनाव प्रचार में अधिक व्यस्तता के कारण वे अपनी मां से भेंट नहीं कर पाएं। आज जब मौका मिला तो लगे हाथों अपनी मां से भी मिल आए।

इस बीच पीएम मोदी अपनी मां संग चाय पीते भी हुए नजर आएं, जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।

हालांकि, गत दिनों पीएम मोदी ने अहमदाबाद से 56 किलोमीटर की रैली का आगाज किया था, जिसके तहत उन्होंने 14 विधानसभा सीटों को कवर किया था। ध्यान रहे कि अब जब पीएम मोदी अपनी मां से मिलने पहुंचे हैं, तो इसकी कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं, जिस पर लोग अलग-अलग तरह से अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नजर आ रहे हैं।

बता दें, पीएम मोदी की अपनी मां संंग हुई आत्मीयतापूर्ण भेंट को लेकर सोशल मीडिया पर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। इससे पहले भी पीएम मोदी अपनी मां से मुखातिब हो चुके हैं। गौर करने वाली बात है कि गुजरात के दूसरे चरण के निर्णायक वोटिंग से पहले पीएम मोदी अपनी मां से मुखातिब होने पहुंचे हैं। दूसरे चरण का चुनाव खासा अहम माना जा रहा है। प्रदेश में पिछले 27 सालों से बीजेपी सत्ता पर काबिज है। अब ऐसी स्थिति में इस बार सूबे की कमान किसके हाथों में आती है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement