दरोगा जी को लॉकडाउन में चढ़ा टिकटॉक वीडियो बनाने का भूत, लहरा दिया AK-47

कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए देशभर में लॉकडाउन लागू है और लोगों के बेवजह घर से निकलने पर रोक है। लेकिन इसी बीच लॉकडाउन ताक पर रखकर एक कुछ पुलिसकर्मी बीच सड़क पर बिना मास्क लगाए टिकटॉक वीडियो बनाने में लगे हैं।

Written by: May 2, 2020 6:06 pm

वाराणसी। कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए देशभर में लॉकडाउन लागू है और लोगों के बेवजह घर से निकलने पर रोक है। लेकिन इसी बीच लॉकडाउन ताक पर रखकर एक कुछ पुलिसकर्मी बीच सड़क पर बिना मास्क लगाए टिकटॉक वीडियो बनाने में लगे हैं।

ये मामला वाराणसी का है, जो रेड जोन की श्रेणी में आता है। यहां लॉकडाउन के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए बीच सड़क पर दारोगा ड्यूटी के दौरान बगैर मास्क और ग्लव्ज के सरकारी एके-47 लहराते हुए टिकटॉक वीडियो बना रहे हैं। ये घटना वाराणसी के ग्रामीण इलाके के चौबेपुर थाने पर तैनात दारोगा हर्ष सिंह भदौरिया की है।

दारोगा हर्ष सिंह भदौरिया पर टिकटॉक बनाने का भूत इतना हावी रहता है कि वे मौके की नजाकत को दरकिनार करते हुए लॉकडाउन के दौरान ही अपने क्षेत्र में गश्त के बीच में एके-47 लेकर सिंघम गाने पर टिकटॉक वीडियो बनाने लगे। इतना ही नहीं, हर्ष सिंह भदौरिया पर टिकटॉक फीवर इतना हावी है कि वह वीडियो में एके-47 के साथ मटकते हुए चहलकदमी भी करते दिख रहे हैं। वह एके-47 को हवा में लहराते देखे जा सकते हैं। एसएसपी ने प्रथम दृष्टया मामला सही पाते हुए जांच का आदेश भी दिया है। कोरोना जैसी महामारी में एक छोटी सी चूक भी कितनी बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकती है, इसकी सीख यूपी की वाराणसी पुलिस अपने 9 साथियों के कोरोना संक्रमित हो जाने के बाद भी नहीं लेना चाह रही है।

दारोगा का गैर जिम्मेदाराना वीडियो वायरल होने पर एसएसपी की ओर से एसएसपी पीआर सेल के वाट्सएप नंबर से एक संदेश भी जारी कर दिया गया है, जिसमें लिखा है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के संबंध में जानकारी मिली है। प्रथम दृष्टया उक्त वीडियो थाना चौबेपुर में तैनात उप निरीक्षक का बताया जा रहा है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने वीडियो के संबंध में जांच के आदेश दिए हैं। अब टिकटॉक के दीवाने दारोगा पर कार्रवाई तय मानी जा रही है।