पुणे स्टेशन पर लिए जा रहे हैं प्लेटफॉर्म टिकट के 50 रुपये? जानिए पीछे का सच

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह(Digvijay Singh) ने प्लेटफार्म टिकट की कीमत बढ़ाए जाने को लेकर ट्वीट के जरिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी)(BJP) पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज में रेलवे प्लेटफार्म टिकट 3 रुपये का था, भाजपा के राज में 50 रुपये का हो गया है।

Avatar Written by: August 19, 2020 12:18 pm

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच प्लेटफॉर्म टिकट के दामों में बढ़ोत्तरी रेलवे द्वारा की गई तो इस पर भी राजनीति शुरू हो गई। कांग्रेस की तरफ से कई नेताओं ने इसको लेकर आपत्ति जताते हुए मोदी सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने कांग्रेस शासन और मोदी सरकार के बीच प्लेटफॉर्म टिकटों के दामों में अंतर समझाने की कोशिश है। हालांकि उनके इस ट्वीट पर रेलवे की तरफ से सफाई दी गई है। जिसके बाद से उन्हें झटका लगना तय है।

Indian Railway

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने प्लेटफार्म टिकट की कीमत बढ़ाए जाने को लेकर ट्वीट के जरिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज में रेलवे प्लेटफार्म टिकट 3 रुपये का था, भाजपा के राज में 50 रुपये का हो गया है।

Digvijay singh

इसके अलावा कांग्रेस के ही अरुण यादव ने ट्वीट कर लिखा कि, कांग्रेस के समय 2 रुपये का रेलवे प्लेटफार्म टिकट अब 50 रुपये का हो गया है क्योंकि “मोदी है तो मुमकिन है”।

Arun yadav

सोशल मीडिया पर फैल रहे इस मैसेज को लेकर रेलवे ने अपनी तरफ इसका सच और कारण बताया है। रेलवे के प्रवक्ता ने ट्वीट करके कहा कि पुणे जंक्शन द्वारा प्लेटफार्म टिकट का मूल्य ₹50 रखने का उद्देश्य अनावश्यक रूप से स्टेशन पर आने वालों पर रोक लगाना है। जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सके। रेलवे प्लेटफार्म टिकट की दरों को कोरोना महामारी के शुरुआती दिनों से ही इसी प्रकार नियंत्रित करता आया है।

Railway Tweet plateform ticket

देखिए दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर किस तरह के रिप्लाई आए..

बता दें कि प्लेटफॉर्म टिकट रेलवे दो घंटे के लिए वैलिड होता है। इसका मतलब है कि यदि आप रेलवे प्लेटफॉर्म पर अपने किसी संबंधी को छोड़ने या लेने जा रहे हैं तो टिकट लेने के समयानुसार 2 घंटे तक प्लेटफार्म पर रुकने की अनुमति मिलती है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost