इंतजार खत्म, आज अंबाला एयरबेस पहुंचेगी राफेल की पहली खेप

राफेल विमान को वायुसेना की गोल्डन ऐरो 17 स्क्वाड्रन में शामिल किया जाएगा। इसने कारगिल युद्ध में अहम भूमिका निभाई थी और भारत की सबसे पुरानी स्क्वाड्रन में से एक है।

Avatar Written by: July 29, 2020 8:19 am

नई दिल्ली। राफेल की पहली खेप आज अबाला एयरबेस पहुंचेगी। इसको लेकर एयरबेस से सटे गांवों में धारा 144 लगा दी गई है। इसके अलावा यहां आधिकारिक फोटोग्राफी से अलग फोटो खींचने पर रोक लगा दी गई है, साथ ही एक जगह लोगों के जुटने पर रोक है। बता दें कि इस लड़ाकू विमान का काफी लंबे समय से इंतजार था, जो आज पूरा हो जाएगा।

rafale

भारत और फ्रांस के बीच हुए सौदे के तहत राफेल की पहली खेप में कुल पांच लड़ाकू विमान होंगे, जिन्हें रिसीव करने के लिए खुद वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया मौजूद रहेंगे। उधर मौसम विभाग का कहना है कि अंबाला में आज मौसम बिगड़ सकता है, मौसम विभाग की ओर से बारिश होने की चेतावनी भी दी गई है। ऐसे में जोधपुर में बैकअप प्लान तैयार है, जहां राफेल को उतारा जा सकता है।

Rafales Indian Airforce

राफेल विमान को वायुसेना की गोल्डन ऐरो 17 स्क्वाड्रन में शामिल किया जाएगा। इसने कारगिल युद्ध में अहम भूमिका निभाई थी और भारत की सबसे पुरानी स्क्वाड्रन में से एक है। चीन के साथ जारी तनाव के बीच भारत को आज ताकतवर लड़ाकू विमान मिल रहे हैं, जिनकी तैनाती उत्तर भारत के बेस पर ही की जा रही है ताकि मुश्किल वक्त के दौरान दुश्मन को मज़ा चखाया जा सके।

Ambala Rafale

बता दें कि सोमवार को राफेल विमानों ने फ्रांस से उड़ान भरी थी, जिसके बाद एक बार हवा में ही उनकी फ्यूलिंग हुई। जिसके बाद पांचों लड़ाकू विमान UAE के अल दाफरा बेस पर रुके। बुधवार सुबह सभी विमान यहां से उड़ान भरेंगे, जिसके बाद दोपहर दो बजे तक वो भारत के अंबाला पहुंच सकते हैं।

करीब डेढ़ दशक के बाद भारतीय वायुसेना में इतनी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस किसी लड़ाकू विमान की एंट्री हो रही है और वो भी राफेल जो कि पिछले दो से तीन सालों से देश में राजनीतिक मुद्दा भी बना रहा है। ऐसे में अब जब अंबाला एयरबेस पर इसकी लैंडिंग होनी है, तो सुरक्षा व्यवस्था को कड़ा किया गया है।

हालांकि, सिर्फ अंबाला ही नहीं बल्कि राजस्थान के जोधपुर में भी तैयारियां की जा रही हैं. जिसे बैकअप के तौर पर तैयार किया जा गया है। उत्तर भारत में आज तेज बारिश का अलर्ट है, ऐसे में अगर मौसम की कुछ परेशानी होती है तो राफेल को जोधपुर में उतारा जा सकता है।