रेलवे के निजीकरण को लेकर उठे सवाल तो ट्वीट में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दी ये अहम जानकारी

सरकार ने 109 रूट्स पर प्राइवेट प्लेयर्स की मदद से 151 आधुनिक ट्रेन चलाए जाने की योजना तैयार की है। सरकार के इस फैसले से रेलवे के निजीकरण को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है।

Avatar Written by: July 12, 2020 1:42 pm

नई दिल्ली। रेलवे के निजीकरण को लेकर सोशल मीडिया पर तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही है। लोग इसको लेकर अफवाहें भी फैला रहे हैं, लेकिन अब रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे के निजीकरण से संबंधित एक अहम जानकारी ट्विटर पर शेयर की है। बता दें कि रेल मंत्री ने साफ किया है कि रेलवे का निजीकरण नहीं होगा।

indian railway

रविवार को रेल मंत्री ने एक ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘रेलवे का नही हो रहा है निजीकरण, सभी वर्तमान सेवाएं चलेंगी पहले की तरह। निजी भागीदारी से 109 रुट पर चलेंगी अतिरिक्त 151 अति आधुनिक ट्रेन, जिनसे बढ़ेगा रोजगार, मिलेगी आधुनिक तकनीक, बढ़ेगी सुविधा व सुरक्षा।’

इससे पहले भी रेलवे के निजीकरण की खबरों पर केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आगे आकर साफ-साफ कहा था कि रेलवे का निजीकरण नहीं किया जा रहा है। कुछ रूट्स पर प्लाइवेट प्लेयर्स को ट्रेन चलाने की मंजूरी से रेलवे की सर्विस में सुधार होगा और नए रोजगार के अवसर मुहैया होंगे। इसी बात को उन्होंने रविवार को भी दोहराते हुए लोगों को विश्वास दिलाया कि रेलवे का निजीकरण नहीं हो रहा है।

piyush goyal

8 जुलाई को भी पीयूष गोयल ने अपने एक ट्वीट में लिखा था कि, ‘रेलवे की वर्तमान में चल रही सेवाओं में बिना कोई परिवर्तन किये, निजी भागीदारी द्वारा आधुनिक सुविधाओं से युक्त 151 नई ट्रेनें चलेंगी। इन ट्रेनों से रेलवे का निजीकरण नही होगा, बल्कि इस भागीदारी से आधुनिक सुविधा, सुरक्षा सहित सीटों की उपलब्धता बढ़ेगी, जिसका लाभ यात्रियों को मिलेगा।’

piyush goyal train

बता दें कि सरकार ने 109 रूट्स पर प्राइवेट प्लेयर्स की मदद से 151 आधुनिक ट्रेन चलाए जाने की योजना तैयार की है। सरकार के इस फैसले से रेलवे के निजीकरण को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें वायरल हो रही हैं जिनमें यह कहा जा रहा है कि सरकार भारतीय रेल का प्राइवेटाइजेशन करने जा रही है।