शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार से पहले सिंधिया ने किया ट्वीट, कह दी ये बड़ी बात

इससे पहले सिंधिया ने बुधवार को ट्वीट कर लिखा, दो दिवसीय दौरे पर कल भोपाल पहुंच रहा हूं। प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार कार्यक्रम में उपस्थित होने के बाद, कार्यकर्ताओं से मुलाकात करूंगा।

Written by: July 2, 2020 10:15 am

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का आज दूसरा विस्तार होने जा रहा है। राजभवन में आयोजित समारोह में प्रभारी राज्यपाल आनंदी बेन पटेल 27 मंत्रियों को 11 बजे शपथ दिलाएंगी। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि मंत्रिमंडल विस्तार में नए चेहरों को ज्यादा तवज्जो दी जाएगी।

jyotiraditya scindia and Shivraj

वहीं राज्यसभा सांसद बनने के बाद पहली बार ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल आ रहे हैं। भोपाल पहुंचने के बाद सिंधिया सबसे पहले राजभवन जाएंगे। वहां वह मंत्रियों के शपथ ग्रहण सामारोह में शामिल होंगे। शपथ ग्रहण समारोह के बाद 12 बजे ज्योतिरादित्य सिंधिया राजभवन से बाहर निकल जाएंगे। उसके बाद ढाई बजे भाजपा ऑफिस पहुंचेंगे।

Jyotiraditya Scindia

शिवराज मंत्रिमंडल के दूसरे विस्तार से पहले ज्योतरादित्य सिंधिया ने अन्याय के खिलाफ छेड़े गए संघर्ष को धर्म बताया है। सिंधिया भोपाल में चौहान मंत्रिमंडल के दूसरे विस्तार समारोह में हिस्सा लेने के साथ दो दिन तक रहने वाले है। सिंधिया ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, ‘अन्याय के खिलाफ छेड़ा गया संघर्ष ही धर्म है।’

ज्ञात हो कि राज्य में सिंधिया के कारण ही भाजपा की सरकार बनी है। यही कारण है कि शिवराज मंत्रिमंडल में सिंधिया समर्थकों को पर्याप्त महत्व दिया जा रहा है। वहीं, कांग्रेस सिंधिया पर कई तरह के आरोप लगा रही है। सिंधिया के इस ट्वीट को कांग्रेस के आरोपों का जवाब माना जा रहा है।

इससे पहले सिंधिया ने बुधवार को ट्वीट कर लिखा, दो दिवसीय दौरे पर कल भोपाल पहुंच रहा हूं। प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार कार्यक्रम में उपस्थित होने के बाद, कार्यकर्ताओं से मुलाकात करूंगा।

सूत्रों का कहना है कि जिन 27 मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी, उनमें से 11 सदस्य वो हैं जो पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए हैं। वहीं 16 सदस्य भाजपा के हैं। इस मंत्रिमंडल विस्तार में नए चेहरों को ज्यादा महत्व दिया जाने वाला है।

Shivraj Singh Angry
जिन नामों की चर्चा है उनमें गोपाल भार्गव, विजय शाह, जगदीश देवड़ा, प्रेम सिंह पटेल, यशोधरा राजे सिंधिया, भूपेन्द्र सिंह, ओपी सकलेचा, बृजेन्द्र प्रताप सिंह, विश्वास सारंग, उषा ठाकुर, मोहन यादव, अरविंद भदौरिया, भारत सिंह कुशवाह, इंदर सिंह परमार, रामखिलावन पटेल, राम किशोर शमिल हैं।

वहीं सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए एदल सिंह कंसाना, ओपीएस भदौरिया, हरदीप सिंह डांग, राज्यवर्धन सिंह, प्रभुराम चौधरी, इमरती देवी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, महेंद्र सिंह सिसोदिया, बृजेन्द्र यादव, सुरेश धाकड़ और बिसाहू लाल सिंह को भी मंत्रिमंडल में जगह दी जा सकती है।