टल गया अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम, चंपत राय बोले- देश की सुरक्षा सर्वोपरि

अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम फिलहाल टल गया है। भूमिपूजन टालने का यह फैसला भारत-चीन सीमा पर तनाव के चलते श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने लिया है।

Avatar Written by: June 18, 2020 5:53 pm

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम फिलहाल टल गया है। भूमिपूजन टालने का यह फैसला भारत-चीन सीमा पर तनाव के चलते श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने लिया है। यही नहीं, ट्रस्ट ने सीमा पर शहीद हुए वीर सपूतों को दी श्रद्धांजलि देते हुए परमात्मा से सभी वीर शहीदों को अपने निज धाम में निवास देने की प्रार्थना की है। साथ ही दुखी परिजनों को धैर्य व शक्ति प्रदान करने की भी प्रार्थना की।

यह कार्यक्रम दो जुलाई को सुबह 8 से 10 बजे तक के बीच होना था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए इस आयोजन का हिस्सा बनने वाले थे। गुरुवार को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया- देश की सुरक्षा हम सबके लिए सर्वोपरि है। निर्माण काल की तारीख देशकाल की परिस्थिति को देखकर घोषित होगी।

Champat rai

ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय समेत अन्य पदाधिकारियों ने शहीद वीर सपूतों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ने कहा भारत-चीन सीमा की परिस्थिति गंभीर है। देश की सुरक्षा हम सभी के लिए सबसे पहले है। मंदिर निर्माण कार्य को शुरू करने का यह समय नहीं है। देश की परिस्थितियों को देखकर आने वाले समय में नई तारीख का ऐलान होगा। इसकी जानकारी वेबसाइट पर अपडेट की जाएगी।

ram-temple

तीन जून को रामलला के दर्शन के लिए आए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर कार्यवाह भैयाजी जोशी राम जन्मभूमि की पवित्र मिट्टी लेकर गए थे। उन्होंने वह मिट्टी प्रधानमंत्री तक पहुंचाई थी। कहा जा रहा था कि, प्रधानमंत्री दो जुलाई को निर्धारित मुहुर्त में परिसर की मिट्टी का पूजन करेंगे और अपने प्रतिनिधि व मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र के हाथों अयोध्या भेजेंगे। यहां भूमि पूजन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, ट्रस्ट के पदाधिकारी व संत-महंत शामिल होंगे। दो जुलाई से ही मंदिर के लिए नींव खुदाई का काम भी शुरू होना था। मंदिर निर्माण का काम लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) को करना है।