बिहार में मिली हार पर RJD नेता का राहुल-प्रियंका पर फूटा गुस्सा, भड़ास निकालते हुए कह दी ये बड़ी बात

RJD leader Shivanand Tiwari speaks on Bihar Results: इस बीच बिहार चुनाव में शिकस्त  मिलने के बाद महागठबंधन में शामिल सियासी दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज होने लगा है। महागठबंधन इस हार को पचा नहीं पा रही है।

Written by: November 16, 2020 9:50 am
Shivanand Tiwari , Rahul and Priyanka Gandhi

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनावों में पूर्ण बहुमत हासिल करने के बाद एक बार फिर से राज्य में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) गठबंधन वाली सरकार बनने जा रही है। सोमवार को नीतीश कुमार (Nitish Kumar) 7वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की लेने जा रहे हैं। इस बीच बिहार चुनाव में शिकस्त  मिलने के बाद महागठबंधन में शामिल सियासी दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज होने लगा है। महागठबंधन इस हार को पचा नहीं पा रही है। बता दें कि बिहार चुनाव में महागठबंधन की हार का ठीकरा लगातार कांग्रेस पर फोड़ा जा रहा है। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में महागठबंधन के हार की मुख्य वजह कांग्रेस का खराब प्रदर्शन ही है जिसकी वजह से महागठबंधन को बहुमत के लिए मिलने वाले आंकड़े से उनके पास 11 सीटें कम रह गईं।

Rahul and Priyanka

इसी क्रम में अब आरजेडी के नेता शिवानंद तिवारी (RJD leader Shivanand Tiwari) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर जमकर निशाना साधा। इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) पर भी अपनी भड़ास निकाली। आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा कि राहुल गांधी बिहार में केवल 3 दिन के लिए आए। प्रियंका गांधी नहीं आईं क्योंकि वो बिहार से उतना परिचित नहीं थीं। बिहार में चुनाव सरगर्मी तेज थी और राहुल गांधी शिमला में प्रियंका गांधी के घर पिकनिक मना रहे थे। क्या पार्टी ऐसे चलती है? कांग्रेस पार्टी जिस तरह से चलाई जा रही है, उससे भाजपा को फायदा हो रहा है।

आरजेडी नेता ने कहा कि कांग्रेस महागठबंधन के पांव की ज़ंजीर बन चुकी है। कांग्रेस के 70 उम्मीदवार चुनाव लड़े और कांग्रेस ने 70 सभाएं भी नहीं की। अन्य प्रदेशों में भी कांग्रेस अधिक से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने पर जोर देती है लेकिन अधिक सीटों पर जीतने में असफल रहती है।

आपको बता दें, बिहार विधानसभा चुनाव में रोमांचक मुकाबले में एनडीए गठबंधन को 125 सीटें हासिल हुईं, जबकि विपक्षी महागठबंधन को 110 सीटें मिली हैं। चुनाव में कांग्रेस ने सिर्फ19 सीटों पर जीत दर्ज की। जबकि नतीजों में आरजेडी 75 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी।

Support Newsroompost
Support Newsroompost