Connect with us

Top Stories

S Jaishankar : रूस पर दवाब बनाने को भारत की तरफ देख रही थी दुनिया, जयशंकर ने लिया एक्शन और फिर कमाल हो गया..

New Delhi : जयशंकर ने बताया कि किसी के द्वारा विनती किए जाने पर भारत की तरफ से रूस पर दबाव डाला गया था। जब जापोरिज्ज्या परमाणु ऊर्जा संयंत्र की सुरक्षा को लेकर पूरी दुनिया को चिंता में उलझी हुई थी, तब कई देशों द्वारा भारत से रूस पर दबाव बनाने की अपील हुई थी।

Published

on

New Delhi : रूस और यूक्रेन के बीच कई महीनों से चला आ रहा युद्ध समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार एक के बाद एक हमले दोनों देश एक दूसरे के ऊपर कर रहे हैं, जिससे दोनों देशों की हालत बिगड़ी हुई है। दोनों देशों के बीच स्थिति अभी भी विस्फोटक बनी हुई है, हालात ऐसे हैं कि एक बार फिर परमाणु हमले तक की चर्चा तेज हो गई है। इन दोनों देशों के बीच चल रहे युद्ध के बीच पूरी दुनिया भारत की तरफ देख रही है। क्योंकि भारत इस समय दुनिया के चुनिंदा महत्वपूर्ण शक्तियों में से एक है और हर मंच पर भारत के प्रधानमंत्री को महवपूर्ण स्थान मिलता है।

इस वक्त भारत की विदेश नीति दुनिया की सबसे बेहतरीन विदेश नीतियों में से एक है। हाल ही में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बड़ा खुलासा किया है। जिसे सुनकर हर कोई भारत की विदेश नीति और एस जयशंकर की तारीफ कर रहा है। जयशंकर ने बताया कि किसी के द्वारा विनती किए जाने पर भारत की तरफ से रूस पर दबाव डाला गया था। जब जापोरिज्ज्या परमाणु ऊर्जा संयंत्र की सुरक्षा को लेकर पूरी दुनिया को चिंता में उलझी हुई थी, तब कई देशों द्वारा भारत से रूस पर दबाव बनाने की अपील हुई थी।

हाल ही में न्यूजीलैंड दौरे पर गए एस जयशंकर ने कहा है कि जब मैं संयुक्त राष्ट्र के दौरे पर था, ठीक उसी वक्त जापोरिज्ज्या परमाणु ऊर्जा संयंत्र की सुरक्षा को लेकर सबसे बड़े मंचों पर ज्यादा चिंता चल रही थी। क्योंकि रूस-यूक्रेन का युद्ध ठीक उस संयंत्र के करीब चल रहा था। एक तरफ दोनों शक्तियों के बीच युद्ध जारी था, दूसरी तरफ इस संयंत्र को लेकर पूरी दुनिया ही चिंतित थी। तब हमसे अनुरोध किया गया था कि हम रूस पर दबाव डालें, कई देशों के कहने पर हमने ऐसा किया भी।

कई दूसरे मुद्दों को लेकर भी कभी दूसरे देशों ने भारत से अपील की तो कभी खुद यूएन ने भी मंथन किया। हम वैश्विक शांति के लिए प्रतिबद्ध हैं इसलिए हमसे जो कुछ भी हो पाएगा, हम वो हर सम्भव तरीके से करने को तैयार हैं। यूक्रेन को लेकर दूसरे देशों के स्टैंड पर भी विदेश मंत्री ने विस्तार से बात की है।

गौरतलब है कि विदेश मंत्री एस जयशंकर हर अंतरराष्ट्रीय पोडियम पर भारत का पक्ष बेहद मजबूती से रखते हैं उनका कहना है कि दुनिया के हर देश को दूसरे देशों के सम्मान का ख्याल रखना जरूरी है साथ ही उनके स्टैंड पर संवेदनशीलता बरतनी चाहिए। विदेश मंत्री एस जयशंकर की कूटनीति की हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान भी जमकर तारीफ करता है। इमरान खान तो कई बार भरी जनसभा में एस जयशंकर की विदेश नीति की खुलकर तारीफ करते आए हैं।

jaishankar parsad

वही बात करें यूक्रेन और रूस के युद्ध की तो एस जयशंकर ने कहा कि हम इस युद्ध पर पैनी नजर बनाए हुए हैं। हम हर वो फैसला करेंगे जो भारत के पक्ष में होगा साथ ही हम अंतरराष्ट्रीय हितों को भी ध्यान में रखेंगे क्योंकि हम अंतरराष्ट्रीय शांति को सुनिश्चित करने वाले देश के तौर पर प्रतिबद्ध हैं। विदेश मंत्री एस जयशंकर की बातें उनके एक्शन से स्पष्ट भी होती हैं क्योंकि वह यूक्रेन और रूस के मुद्दे पर जरूरत पड़ने पर बोले भी हैं और अभी तक उन्होंने भारत के स्टैंड को न्यूट्रल भी रखा है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement