Coronavirus: कोरोना को लेकर वैज्ञानिकों का दावा, मिल गई रामबाण दवा जो वायरस को 24 घंटे में देगी मात

Coronavirus: अब इस कोरोनावायरस (Coronavirus) के इलाज को लेकर वैज्ञानिक एक ऐसी दवा का दावा कर रहे हैं जिससे कोरोना का 24 घंटे में इलाज किया जा सकेगा। मतलब इस दवा के इस्तेमाल से कोरोना के मरीज 24 घंटे में स्वस्थ हो जाएंगे।

Written by: December 6, 2020 3:58 pm
Molnupiravir Medicine Coronavirus Treatment

नई दिल्ली। कोरोनावायरस का कहर पूरी दुनिया में जारी है। इस वायरस को लेकर प्रारंभ से ही वैज्ञानिकों को कोई खास जानकारी नहीं थी ऐसे में इस वायरस ने महामारी का रूप ले लिया और पूरी दुनिया में इसने कहर मचा दिया। पूरी दुनिा इस वायरस की वजह से थम से गई थी। सौ साल में पहली बार ऐसा हुआ कि पूरी दुनिया की सड़कें, गलियां और बाजार सुनसान पड़ गए थे। धीरे-धीरे अब हलचल वापस आ रही है तो यह वायरस तब तक अपना कहर इतना बरपा चुका है कि अभी भी दुनिया इससे खौफजदा है। ऐसे में इसको लेकर वैक्सीन भी धीर-धीरे आनी शुरू हो गई है। वहीं कई वैक्सीन का ट्रायल अंतिम चरण में है मतलब ये वैक्सीन भी जल्द दुनिया को मिलनेवाले हैं। इस सब के बीच कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों के इलाज के लिए कई तरह की दवाईयों को लेकर दावा किया गया। कोरोना के प्रसार के साथ ही दुनिया भर में कई दवाओं को लेकर यह दावा किया गया कि इसके इस्तेमाल से कोरोना के मरीजों को ठीक किया जा सकता है लेकिन अभी तक किसी दवा को लेकर ऐसा दावा नहीं किया गया कि इससे कोरोना के मरीज 100 प्रतिशत ठीक हो जाएंगे। ऐसे में लगातार बताया जा रहा है कि ऐहतियात ही इस वायरस से बचाव का सबसे अच्छा इलाज है।

Corona Virus

लेकिन अब इस कोरोनावायरस के इलाज को लेकर वैज्ञानिक एक ऐसी दवा का दावा कर रहे हैं जिससे कोरोना का 24 घंटे में इलाज किया जा सकेगा। मतलब इस दवा के इस्तेमाल से कोरोना के मरीज 24 घंटे में स्वस्थ हो जाएंगे। अब आप यह मान सकते हैं कि कोरोना के मरीजों को लेकर वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने ऐसी दवा खोज निकाली है जो सिर्फ 24 घंटों में कोरोना का इलाज कर सकती है। वैज्ञानिकों का दावा है कि कोरोनावायरस को यह एंटी वायरल ड्रग पूरी तरह से खत्म कर सकती है। आपको बता दें कि कोरोना के इलाज का दावा जिस ड्रग के जरिए किया जा रहा है उसका नाम MK-4482/EIDD-2801 है जिसे आसान भाषा में मोल्नूपीराविर (Molnupiravir) कहा जाता है।

Corona Medicine

जर्नल ऑफ नेचर माइक्रोबायलॉजी में छपी एक स्टडी की मानें तो इस मोल्नूपीराविर से कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों के संक्रमण को तो ठीक किया ही जाएगा साथ ही मरीजों को पोस्ट कोविड जो समस्याएं आनेवाली हैं उससे भी बचाया जा सकेगा। इस स्टडी में दावा किया गया है कि कोरोना के इलाज के लिए पहली बार है जब मुंह से खाने वाली दवाई का प्रदर्शन किया जा रहा है। ऐसे में मोल्नूपीराविर कोरोना के इलाज में गेम चेंजर साबित हो सकती है।

Corona Testing

स्टडी में यह दावा स्पष्ट तौर पर किया गया है कि किसी भी हालत में इस दवा का इस्तेमाल करनेवाले कोरोना संक्रमित इसका संक्रमण दूसरों में नहीं फैला सकेंगे वहीं इसके सेवन से कोरोना संक्रमित लोग 24 घंटे में संक्रमण मुक्त हो जाएंगे।

Support Newsroompost
Support Newsroompost