शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने 29 जनवरी को बुलाया भारत बंद

प्रदर्शनकारियों ने फैसला किया है कि आगामी 29 जनवरी को सड़कें जाम की जाएंगी। उन्होंने कहा है कि, सरकार अपने प्रतिनिधि भेजेगी, उसके बाद भी विरोध यूं ही जारी रहेगा।

Written by: January 21, 2020 9:34 pm

नई दिल्ली। एक महीने से भी ज्यादा समय से दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन कर प्रदर्शनकारियों ने 29 जनवरी को भारत बंद बुलाया है। इसके साथ उन्होंने ये भी कहा है कि, उन्हें वहां से दुनिया की कोई भी ताकत उन्हें यहां से नहीं हटा सकती।

Shaheen Bagh protest

प्रदर्शनकारियों ने फैसला किया है कि आगामी 29 जनवरी को सड़कें जाम की जाएंगी। उन्होंने कहा है कि, सरकार अपने प्रतिनिधि भेजेगी, उसके बाद भी विरोध यूं ही जारी रहेगा। इन सबके बीच प्रदर्शन खत्म करने को लेकर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मंगलवार को शाहीन बाग के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की और प्रदर्शन खत्म करने की अपील की। प्रतिनिधिमंडल ने उपराज्यपाल को एक ज्ञापन देकर सीएए वापस लेने की मांग की।

Shaheen Bagh Protester meet Delhi LG

प्रदर्शनकारियों से मिले उप राज्यपाल ने प्रदर्शन से लोगों को हो रही दिक्कतों के बारे में अवगत कराया। उन्होंने सड़क बंद होने के कारण स्कूली बच्चों, रोगियों और आम जन को हो रही परेशानियों का हवाला दिया।

आपको बता दें कि शाहीन बाग में 1 महीने से ज्यादा दिनों से विरोध प्रदर्शन चल रहा है। इसमें हजारों लोग शामिल हो रहे हैं जिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। कुछ बुजुर्ग महिलाएं भी इसमें शरीक हो रही हैं। इन्हीं में से एक बुजुर्ग महिला ने मंगलवार को सरकार को खुली चुनौती दी। उसने कहा कि अगर सरकार पीछे नहीं हटेगी तो हम भी एक इंच पीछे नहीं हटेंगे। बेहद तल्ख अंदाज में बुजुर्ग महिला ने कहा कि हम मरने से नहीं डरते। इन महिलाओं की मांग है कि सरकार सीएए वापस ले नहीं तो उनका प्रदर्शन आगे भी जारी रहेगा।

amit Shah

दूसरी गृह मंत्री अमित शाह की तरफ से भी स्पष्ट रूप से कहा गया है कि, जिसको भी जितना विरोध करना है कर ले, लेकिन ये कानून वापस नहीं लिया जाएगा।