Connect with us

देश

Video: अहमदाबाद के शाही इमाम के बिगड़े बोल, महिलाओं के चुनाव लड़ाने को बताया इस्लाम विरोधी

Gujarat Election 2022: आगे शब्बीर अहमद ने कहा कि हम हिजाब को महफूज नहीं रख सकेंगे। इस मसले पर नहीं उठा सकेंगे। तो हुकूमत कहेगी आपकी औरतें तो असेंबली हॉल में, संसद में आ रही है। स्टेज में भाषण दे रही है। चुनाव लड़ने के लिए हर घर जाना पड़ेगा। हिंदू या मुस्लिम कोई भी हो। और इस्लाम में औरत की आवाज भी औरत है। इसलिए मैं इसका सख्त मुखालिफत हूं।

Published

नई दिल्ली। गुजरात में एक दिसंबर को पहले दौर की वोटिंग हो चुकी है। सोमवार कल यानि 5दिसंबर को दूसरे चरण के लिए मतदान होना है।दूसरे दौर के लिए 3 दिसंबर को चुनावी प्रचार थम गया है। इसी बीच दूसरे फेज की वोटिंग से पहले अहमदाबाद की जामा मस्जिद के शाही इमाम शब्बीर अहमद सिद्दीकी (Shabbir Ahmed Siddiqui) ने विवादित टिप्पणी कर डाली है। जिसको लेकर बवाल मच सकता है। शब्बीर अहमद ने महिलाओं के चुनावी मैदान में उतरने पर ही प्रश्नचिन्ह खड़े कर दिए है। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, इस्लाम में सबसे ज्यादा अहमियत नमाज को है। अगर औरतों का इस तरह से लोगों के सामने आना इस्लाम में जायजा होता। तो उन्हें मस्जिद से नहीं रोका जाता।

आगे उन्होंने महिलाओं के चुनाव लड़ने पर कहा कि, अगर कोई भी औरतों को टिकट देते है वो इस्लाम के खिलाफ बगावत करते है। इस्लाम के खिलाफ उनका ये अमल है। आपके के पास मर्दे नहीं है जो महिलाओं को ला रहे है। इसे हमारा मजहब कमजोर होगा। कमजोर इसीलिए होगा। कर्नाटक में हिजाब का मसला चला। उस पर काफी हंगामा हुआ। अगर आप अपनी औरतों को विधायक, पार्षद बनाएंगे।

muslim women

आगे शब्बीर अहमद ने कहा कि हम हिजाब को महफूज नहीं रख सकेंगे। इस मसले पर नहीं उठा सकेंगे। तो हुकूमत कहेगी आपकी औरतें तो असेंबली हॉल में, संसद में आ रही है। स्टेज में भाषण दे रही है। चुनाव लड़ने के लिए हर घर जाना पड़ेगा। हिंदू या मुस्लिम कोई भी हो। और इस्लाम में औरत की आवाज भी औरत है। इसलिए मैं इसका सख्त मुखालिफत हूं।

शब्बीर अहमद ने आगे कहा, मर्द को टिकट दीजिए। जहां मजबूरी नहीं। हां हमारे देश का कानून होता। कि औरतें ही उस सीट से चुनाव लड़ती है। तो वहां कह सकते है कि मजबूरी है। लेकिन यहां तो कोई मजबूरी नहीं है। उन्होंने कहा कि, मुझे लगता है कि आजकल औरतों की चलती है अगर औरतों को कब्जे में ले लो, तो पूरा परिवार कब्जे में आ जाएगा।

Shabbir Ahmed Siddiqui

इससे पहले शाही इमाम शब्बीर अहमद सिद्दीकी ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए मुस्लिम वोटरों के संदर्भ में बड़ा दिया था। शब्बीर अहमद ने दूसरे दौर की वोटिंग से पहले मुस्लिम मतदाताओं से अपील की, कि अपने वोट ना बंटने दे। उन्होंने कहा कि वे गुजरात के विकास के लिए एक ऐसी पार्टी का चयन करना चाहेंगे, जो कि हिंदू मुस्लिमों को एक साथ लेकर चलती हो।

Advertisement
Advertisement
Advertisement