जम्मू-कश्मीर को नए साल पर मोदी सरकार ने दिया तोहफा, महीनों से बंद इस सेवा को किया गया शुरू

केंद्र सरकार ने नए साल पर जम्मू-कश्मीर के लोगों को बड़ा तोहफा दिया है। कश्मीर के सभी इलाकों में एसएमएस की सुविधा को बहाल कर दिया गया है। साथ ही स्कूल, कॉलेज, अस्पताल में इंटरनेट की सेवाएं शुरू कर दी गई हैं। यह सेवाएं 31 दिसंबर की मध्यरात्रि से प्रभावी हुईं।

Written by: January 1, 2020 9:30 am

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने नए साल पर जम्मू-कश्मीर के लोगों को बड़ा तोहफा दिया है।कश्मीर के सभी इलाकों में एसएमएस की सुविधा को बहाल कर दिया गया है। साथ ही स्कूल, कॉलेज, अस्पताल में इंटरनेट की सेवाएं शुरू कर दी गई हैं। यह सेवाएं 31 दिसंबर की मध्यरात्रि से प्रभावी हुईं।

बता दें कि पिछले वर्ष 5 अगस्त को आर्टिकल 370 खत्म किए जाने के बाद से ही यहां लैंडलाइन, इंटरनेट, एसएमएस की सुविधा बंद कर दी गई थी। लेकिन पिछले कुछ दिनों से लैंडलाइन सेवा को चरणबद्ध तरीके से शुरू किया गया है। जम्मू-कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने बताया कि मंगलवार आधी रात से सरकारी स्कूल और अस्पताल में ब्रॉडबैंड की सेवाएं बहाल कर दी गई है।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन के प्रवक्ता रोहित कंसल ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘सभी सरकारी अस्पतालों में 31 दिसंबर मध्यरात्रि से इंटरनेट सेवा और सभी मोबाइल फोन पर पूरी तरह से एसएमएस सेवा बहाल करने का निर्णय लिया गया है।’’

jammu kashmir

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 5 अगस्त, 2019 को अनुच्छेद 370 के एक खंड को छोड़कर बाकी को निष्प्रभावी कर दिया था। इस ऐतिहासिक फैसले के अलावा सरकार ने जम्मू-कश्मीर को केंद्रशासित प्रदेशों-जम्मू कश्मीर और लद्दाख में बांट दिया था।