Connect with us

देश

दिल्ली : पति-पत्नी के शव लटके मिले, मची सनसनी

पुलिस के अनुसार, “तेपेंद्र मकान मालिक के दफ्तर में ही साफ-सफाई का काम करते थे। जबकि पत्नी बिसना घरों में काम करके पेट पाल रही थी। घटना के बाद से अभी तक पुलिस का परिजनों से संपर्क नहीं हो पाया है। हालांकि पता चला है कि, बंटी का भाई और मामा करोल बाग में ही रहते हैं।”

Published

नई दिल्ली। दक्षिणी दिल्ली के कोटला मुबारकपुर इलाके में पति-पत्नी के शव लटके मिलने से सनसनी फैल गई। परिवार वालों के विरोध के बावजूद 5 महीने पहले ही दोनों ने प्रेम विवाह किया था। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। हालांकि, पुलिस जांच आत्महत्या के ही दृष्टिकोण से कर रही है। दक्षिणी जिलांतर्गत कोटला मुबारकपुर थाने में तैनात एक इंस्पेक्टर ने आईएएनएस से घटना की पुष्टि की है। इंस्पेक्टर के मुताबिक, “मरने वालों का नाम तेपेंद्र उर्फ बंटी (20) और बिसना (19) है। दोनों नेपाल के मूल निवासी थे। कोटला मुबारकपुर में दोनों किराये के मकान में रह रहे थे। दंपति पांच महीने पहले ही दिल्ली आये थे।”

suicide

पुलिस के अनुसार, “तेपेंद्र मकान मालिक के दफ्तर में ही साफ-सफाई का काम करते थे। जबकि पत्नी बिसना घरों में काम करके पेट पाल रही थी। घटना के बाद से अभी तक पुलिस का परिजनों से संपर्क नहीं हो पाया है। हालांकि पता चला है कि, बंटी का भाई और मामा करोल बाग में ही रहते हैं।”

delhi police

हादसे की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को सील करके सफदरजंग अस्पताल की मॉर्च्यूरी में रखवा दिया है। मामले की जांच पुलिस के साथ साथ एसडीएम डिफेंस कालोनी के हवाले की गयी ही। क्योंकि दोनो की शादी को अभी 5 महीने ही हुए थे। घटना मंगलवार सुबह के वक्त की है।

जानकारी के मुताबिक मंगलवार को सुबह रोजाना की तरह बंटी पहली मंजिल पर रहने वाले मकान मालिक से उनके दफ्तर की चाबी लेने गया था। उसने ग्राउंड फ्लोर पर मौजूद ऑफिस खोला। उसके बाद वो चाबी लेकर अपने कमरे पर चला गया।

suicide

करीब 10 बजे के आसपास मकान मालिक को आफिस बंद मिला। तब उन्होंने एक अन्य कर्मचारी को तीसरी मंजिल पर रह रहे बंटी को बुलाने के लिए भेजा। कर्मचारी को कमरे में बंटी का शव लटका मिला। जबकि पत्नी बिसना कमरे पर नहीं थी। बिसना मौके पर पहुंची तो वो बेहद घबरा गई। पुलिस के मुताबिक, मौका पाकर पति की मौत से बेहाल बिसना ने भी फांसी लगा ली। जिससे उसकी भी मौत हो गई। अभी तक इन मौतों की वजह नहीं पता चल सकी है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement