कोविड स्क्रीनिंग के लिए प्रदेश में विकसित तकनीक को अन्तरराष्ट्रीय स्तर के शोध पत्र में किया गया प्रकाशित

कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने वैज्ञानिकों से संक्रमण की रोकथाम के लिए तकनीक का विकास करने को कहा था। इसी क्रम में एकेटीयू व केजीएमयू ने मिल कर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से कोविड संक्रामित मरीजों की स्क्रीनिंग के लिए तकनीक विकसित की थी। जो एक्स-रे इमेज के मदद से कोविड-19 रोगियों की स्क्रीनिंग करने में सक्षम है।

Avatar Written by: February 4, 2021 7:02 pm

नई दिल्ली/लखनऊ। एकेटीयू और किंग जार्ज चिकित्सा विवि के कोविड-19 रोगियों की स्क्रीनिंग के लिए बनाए गए जिस टूल किट का लोकापर्ण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था। उसे दुनिया के टॉप रिसर्च पब्लिकेशन एल्जिवियर ने प्रकाशित किया है। एकेटीयू के मुताबिक शोध पत्र विश्व के प्रतिष्ठित एससीआई जर्नल एल्जिवियर के साइंस डायरेक्ट में प्रकाशित हुआ है, जो एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

Yogi Adityanath Corona Vaccination Dry Run

एकेटीयू के प्रवक्ता आशीष मिश्र के मुताबिक कोविड-19 संक्रमण के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वैज्ञानिकों से संक्रमण की रोकथाम के लिए तकनीक का विकास करने को कहा था। इसी क्रम में एकेटीयू व केजीएमयू ने मिल कर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से कोविड संक्रामित मरीजों की स्क्रीनिंग के लिए तकनीक विकसित की थी। जो एक्स-रे इमेज के मदद से कोविड-19 रोगियों की स्क्रीनिंग करने में सक्षम है। इसका विश्लेषण 99.98 प्रतिशत शुद्धता के साथ कार्य करने में सक्षम पाया गया था।

Corona Testing

यह तकनीक न केवल प्रदेश बल्कि देश-विदेश में अग्रणी अनुसंधान के रूप में दृष्टिगोचर हो रही है। इस नई तकनीक का लोकापर्ण प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था। जिसके बाद इस टूल को देश के कई मेडिकल संस्थानों में कोविड-19 रोगियों की स्क्रीनिंग हेतु उपयोग में लाया जा रहा है।

corona centre

इस तकनीक को शोध पत्र ‘ए डीप लर्निंग-बेस्ड कोविड-19 ऑटोमेटिक डायग्नोसिस फ्रेमवर्क यूसिंग चेस्ट एक्स-रे इमेजेज’ टाइटल से एल्जिवियर के साइंस डायरेक्ट जर्नल में प्रकाशित किया गया है। इस शोध पत्र के प्रकाशन में भारतीय वैज्ञानिकों के साथ विदेशी वैज्ञानिकों द्वारा भी अहम भूमिका निभाई गई है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost