Connect with us

देश

#RavishKumar: ‘ये दिन भी आना ही था,जब बेटी विदा होती है तो मायके को…’, NDTV से इस्तीफे के बाद रवीश कुमार का भावुक संदेश

#RavishKumar: उन्होंने वीडियो में कहा कि मैं जो कहने वाला हूं उसे धीरज के साथ सुनिएगा..। भारत की पत्रकारिता में कभी स्वर्ण युग था ही नहीं और कभी भस्म युग भी नहीं था

Published

नई दिल्ली। रवीश कुमार सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रहे हैं क्योंकि उन्होंने कल देर शाम एनडीटीवी के संपादक पद से  इस्तीफा दे दिया। इससे पहले कल सुबह ही एनडीटीवी के प्रमोटर्स प्रणय रॉय और राधिका रॉय ने भी इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद रवीश कुमार का इस्तीफा आया। ऐसे में अब वो लोग जो रवीश कुमार को सुनना पसंद करते हैं वो अब रवीश को बड़ी स्क्रीन पर नहीं देख पाएंगे। लेकिन  फेमस एंकर ने इसका भी हल ढूंढ निकाला है। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल से एक भावुक संदेश जारी किया है साथ ही बताया है कि अब वो कहां नजर आने वाले हैं।

जब बेटी विदा होती है…

उन्होंने वीडियो में कहा कि मैं जो कहने वाला हूं उसे धीरज के साथ सुनिएगा..। भारत की पत्रकारिता में कभी स्वर्ण युग था ही नहीं और कभी भस्म युग भी नहीं था..गोदी मीडिया, अपना मतलब आपके ऊपर थोपना चाहती है…। उन्होंने अपने सहयोगियों के बारे में कहा कि मेरे पहले सहयोगी, वर्तमान सहयोगी मुझमें अपना अंश देखते हैं और ये ठीक भी है क्योंकि मैं उन्हीं की वजह से समृद्ध हुआ हूं। जब बेटी विदा होती है तो मायके की तरफ पीछे मुड़-मुड़कर देखती है..मेरी स्थिति भी कुछ ऐसी है..।संभल पाना मुश्किल हो गया है।  रवीश कुमार ने वीडियो में काफी कुछ कहा है। आप उनका वीडियो उनके आधिकारिक चैनल पर देख सकते हैं।


कई सालों तक किया एनडीटीवी में काम

वीडियो में रवीश ने अपने करियर का भी जिक्र किया और बताया कि कैसे एक मामूली चिट्ठी पढ़ने वाला शख्स संपादक बन गया। उन्होंने कहा कि मुझे पहले से पता था कि ये दिन आना ही है और मैं इसके लिए तैयार था लेकिन मुझे अच्छा नहीं लग रहा हैं। इस वीडियो के जरिए ही रवीश ने बताया कि अब वो दर्शकों से इसी यूट्यूब चैनल पर मिलेंगे। वीडियो के कैप्शन में उन्होंने लिखा-‘मैंने इस्तीफा दे दिया है। यह इस्तीफा आपके सम्मान में है। आप दर्शकों का इक़बाल हमेशा बुलंद रहे। आपने मुझे बनाया। आप ने मुझे सहारा दिया। करोड़ों दर्शकों का स्वाभिमान किसी की नौकरी और मजबूरी से काफ़ी बड़ा होता है। मैंने आपके प्यार के आगे नतमस्तक हूं”। बता दें कि अब एनडीटीवी को अडाणी ग्रुप ने खरीद दिया है, जिसके बाद से इस्तीफों का दौर जारी है।

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement