त्रिपुराः कोरोना के चलते राज्यभर में लॉकडाउन, भाजपा विधायक सुदीप बर्मन बेखौफ करते रहे पूरी रात पार्टी

त्रिपुरा के पूर्व मंत्री एवं भाजपा विधायक सुदीप बर्मन ने लॉकडाउन नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए रविवार देर रात तक अपने घर पर पार्टी की।

Avatar Written by: July 27, 2020 8:38 pm

नई दिल्ली/अगरतला। एक तरफ पूर्वोत्तर के राज्य त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब प्रदेश में कोरोना से उपजे हालात को जल्द से जल्द सामान्य करने और जनता को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराने के लिए सतत प्रयास कर रहे हैं। इतना ही नहीं राज्य की जनता को कोरोना महामारी की वजह से किसी तरह की समस्या ना आए और उनकी इम्यूनिटी बेहतर बनी रहे इसके लिए भी वह प्रयासरत हैं। ऐसे में एक तरफ जहां राज्य के मुख्यमंत्री राज्य में लॉकडाउन की घोषणा कर चुके हैं वहीं त्रिपुरा के पूर्व मंत्री एवं भाजपा विधायक सुदीप बर्मन ने लॉकडाउन नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए रविवार देर रात तक अपने घर पर पार्टी की।

Lockdown Unlock

आपको बता दें कि त्रिपुरा में हाल के दिनों में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है जिसकी वजह से राज्य में पूरी तरह से लॉकडाउन लगाया गया है। लेकिन त्रिपुरा के भाजपा विधायक सुदीप बर्मन के यहां रविवार देर रात तक इस सबके बीच पार्टी

चलती रही। सूचना मिली की एक तरफ राज्य भर में लॉकडाउन लगा है और विधायक जी अपने दल की सरकार होने की वजह से पार्टी करते रहे इस सब के बीच सूत्रों की मानें तो पुलिस भी मुकदर्शक बनी रही।

Sudeep Roy Barman Tripura

सूत्र बताते हैं पार्टी में करीब 80 लोग आमंत्रित किए गए थे इस पूरे कार्यक्रम में भोजन की भी व्यवस्था थी। इसमें मांसाहारी भोजन भी परोसा गया था। रात्रि पार्टी का आयोजन विधायक के सरकारी आवास विधायक होस्टल में हुआ जोकि अगरतला शहर के बीचोंबीच स्थित असम रायफल ग्राउंड के पास है।

Biplab Kumar Deb

भाजपा विधायक के सरकारी आवास पर आयोजित पार्टी खत्म होने के बाद खाना बनाने वाले हेमेंद्र चक्रबर्ती ने स्वीकार किया कि उन्हें विधायक सुदीप बर्मन के निवास पर आयोजित पार्टी में भोजन बनाने के लिए बुलाया गया था। वैसे स्थानीय अखबारों में खबर छपने के बाद पुलिस के हाथ पांव फूले गए हैं।

आपको बता दें सुदीप बर्मन अगरतला के 6 नंबर सीट से विधायक हैं। राज्य में भाजपा की पहली बार सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री बिप्लब देब की सरकार में वे स्वास्थ्य मंत्री बनाए गए थे। मगर पार्टी विरोधी गतिविधी की वजह से उन्हें लोकसभा चुनाव बाद मंत्री पद से हटा दिया गया। भाजपा से पहले बर्मन तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस में रह चुके हैं। उनके पिता समीर रंजन बर्मन राज्य के मुख्यमंत्री भी रहे हैं। शायद यही वजह से विधायक सुदीप बर्मन लॉकडाउन के नियमों की धज्जियां उड़ाते दिखे।

Support Newsroompost
Support Newsroompost