भारत का गलत नक्‍शा दिखाने पर मोदी सरकार ने दिखाई सख्ती तो लाइन पर आया Twitter, मांगी माफी

Twitter: भाजपा(BJP) सांसद मीनाक्षी लेखी ने जानकारी दी है कि, ट्विटर(Twitter) के चीफ प्राइवेसी ऑफिसर ने एक एफिडेविट में बताया है कि हम अपनी गलती मानते हैं।

Avatar Written by: November 18, 2020 6:08 pm

नई दिल्ली। Twitter द्वारा भारत का गलत नक्शा दिखाने पर भारत सरकार द्वारा दिखाई गई सख्ती का असर कुछ ऐसा हुआ है कि अब ट्विटर ने अपने इस कृत्य पर माफी मांग ली है। बता दें कि ट्विटर ने लेह (Leh) को केन्‍द्र शासित प्रदेश लद्दाख के बजाय जम्मू-कश्मीर के हिस्‍से के रूप में दिखाया था। जिसपर ट्विटर को भारत सरकार की सख्ती का सामना करना पड़ा। इसके लेकर भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने ट्विटर के ग्‍लोबल वाइस प्रेसिडेंट को एक नोटिस भेजा, जिसमें लिखा था कि ‘ट्विटर ने यह जान-बूझकर किया है। उसने लेह को जम्मू-कश्मीर के हिस्से के रूप में दिखाकर भारत की संप्रभु संसद की इच्छा को कम करने के लिए ये कदम उठाया है, जिसने लद्दाख को भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया था।’ इसके बाद अब ट्विटर ने संसदीय समिति से लिखित में माफी मांग ली है और इसे सुधार करने की बात कही है। भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने जानकारी दी है कि, ट्विटर के चीफ प्राइवेसी ऑफिसर ने एक एफिडेविट में बताया है कि हम अपनी गलती मानते हैं।

Minakshi Lekhi

मीनाक्षी लेखी ने कहा है कि, ट्विटर ने माना है कि लद्दाख के एक हिस्से को गलत जियो-टैग करके चीन का हिस्सा दिखाया गया। उसे ठीक करने के लिए उन्हें 30 नवंबर 2020 तक का समय लगेगा। बता दें कि IT मंत्रालय ने अपने नोटिस में ट्विटर को 5 दिन का समय देते हुए निर्देश दिया था कि वह ‘यह बताए कि गलत मानचित्र दिखाकर भारत की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान करने के लिए ट्विटर और उसके प्रतिनिधियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई क्‍यों न शुरू की जाए।’

twitter

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है, इससे पहले भी ट्विटर इस तरह की हरकत कर चुका है। इससे पहले ट्विटर ने लेह को पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना का हिस्सा दिखाया था, इस पर इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के सचिव ने ट्विटर के सीईओ जैक डोर्से को पत्र लिखकर इस पर आपत्ति जताई थी। हालांकि भारत की आपत्ति के बाद ट्विटर ने लेह को चीन के नक्‍शे से हटा दिया था।