Connect with us

देश

प्रवासियों के मामले पर आमने सामने आ गए योगी आदित्यनाथ और राज ठाकरे, पढ़िए क्या कहा

उत्तर प्रदेश सरकार और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे प्रवासी मजदूरों के मसले परआमने-सामने आ गए हैं। राज ठाकरे ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ भी यह बात ध्यान रख लें कि प्रवासियों को अब महाराष्ट्र आने से पहले इजाजत लेनी चाहिए। इसके साथ ही राज ठाकरे ने उद्धव सरकार से एक अपील भी की।

Published

on

मुंबई। उत्तर प्रदेश सरकार और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे प्रवासी मजदूरों के मसले परआमने-सामने आ गए हैं। राज ठाकरे ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ भी यह बात ध्यान रख लें कि प्रवासियों को अब महाराष्ट्र आने से पहले इजाजत लेनी चाहिए। इसके साथ ही राज ठाकरे ने उद्धव सरकार से एक अपील भी की।

राज ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए और पुलिस स्टेशन में प्रवासी मजदूरों के रिकॉर्ड को बनाना चाहिए, जिसमें उनकी तस्वीर भी हो. राज ठाकरे के इस बयान के बाद प्रवासियों को लेकर हो रही सियासत में नया मोड़ आ सकता है, क्योंकि इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने दो टूक बयान जारी कर दिया था।

CM Yogi Adityanath

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा था कि कोई भी राज्य जो उत्तर प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को वापस बुलाना चाहता है, उसे यूपी सरकार से अनुमति लेनी होगी और मजदूरों के सामाजिक-कानूनी-मौद्रिक अधिकारों को सुनिश्चित करना होगा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोनो लॉकडाउन के मद्देनजर विभिन्न राज्यों द्वारा प्रवासी मजदूरों का ठीक से ध्यान नहीं रखा गया। ये श्रमिक हमारे सबसे बड़े संसाधन हैं और हम उत्तर प्रदेश में उन्हें रोजगार देंगे, इसके लिए प्रवासी कमिशन की स्थापना की जा रही है, जो उनको रोजगार मुहैया कराएगा।

Migrant Workers Majdoor

सीएम योगी ने कहा कि सभी प्रवासी श्रमिकों को पंजीकृत किया जा रहा है और उनकी स्किल मैपिंग की जा रही है। प्रवासी श्रमिकों को आमंत्रित करने में रुचि रखने वाले किसी भी राज्य या इकाई को उनके सामाजिक-कानूनी-मौद्रिक अधिकारों के लिए आश्वासन और प्रदान करने की आवश्यकता होगी।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement